Asianet News HindiAsianet News Hindi

ईरान: महसा अमीनी के बाद एक और लड़की की हत्या, पुलिस ने 20 साल की नजफी को मारी 6 गोलियां

ईरान इन दिनों हिजाब विरोधी प्रदर्शनों से सुलग रहा है। देश के 50 से ज्यादा शहरों में लोग हिजाब के विरोध में उतर आए हैं। वहीं, महसा अमीनी के बाद अब कराज शहर में हिजाब विरोधी प्रदर्शन की अगुआई कर रही 20 साल की एक और लड़की हदीस नजफी को गोली मार दी गई है। 

Iran hijab row, After Mahsa Amini, another girl was killed, police fired 6 bullets at 20 year old Najafi kpg
Author
First Published Sep 25, 2022, 8:35 PM IST

Iran Hijab Row: ईरान इन दिनों हिजाब विरोधी प्रदर्शनों से सुलग रहा है। देश के 50 से ज्यादा शहरों में लोग हिजाब के विरोध में उतर आए हैं। वहीं, खबर आ रही है कि कराज शहर में हिजाब विरोधी प्रदर्शन की अगुआई कर रही 20 साल की हदीस नजफी की पुलिस फायरिंग में मौत हो गई है। सोशल मीडिया पर उनकी मौत से जुड़े कई वीडियो भी वायरल हैं। हदीस जब कुछ महिलाओं के साथ हिजाब का विरोध कर रहीं थीं, तभी पुलिस ने उन्हें गोली मार दी, जिसमें उनकी मौत हो गई। 

बता दें कि ईरान में इससे पहले 20 साल की महसा अमीनी की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी। इसके बाद विरोध प्रदर्शन की कमान हदीस नजफी ने संभाली थी। 20 साल की स्टूडेंट नजफी ने पुलिस के सामने भी हिजाब नहीं पहना और अपने बाल भी काट दिए थे। इस विरोध प्रदर्शन के दौरान ही मॉरल पुलिस ने नजफी को 6 गोलियां मारीं, जिससे उनकी मौत हो गई। 

नजफी के अंतिम संस्कार का वीडियो वायरल : 
सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि नजफी की फैमिली ने ही उनकी मौत के बाद अंतिम रस्म का वीडियो जारी किया है। ऐसे कई वीडियोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। हालांकि अब तक किसी न्यूज एजेंसी ने इस बात की पुष्टि नहीं की है। 

ईरान: क्यों अपने बाल काट रही महिलाएं, सरेआम जला रहीं हिजाब; कहीं इसके पीछे ये वजह तो नहीं?

हिजाब विरोधी प्रदर्शन में अब तक 50 से ज्यादा मौतें : 
बता दें कि इससे पहले 13 सितंबर को ईरान की राजधानी तेहरान में हिजाब न पहनने की वजह से 20 साल की महसा अमीनी को वहां की मॉरल पुलिस ने हिरासत में लिया था। इस दौरान उनके साथ की गई मारपीट के बाद 16 सितंबर को महसा अमीनी की पुलिस कस्टडी में ही मौत हो गई थी। इसके बाद पूरे ईरान में हिजाब और सख्त पाबंदियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन काफी तेज हो गए थे। बता दें कि हिजाब विरोधी प्रदर्शन में अब तक 50 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। 

ईरान के 50 से ज्यादा शहर सुलगे : 
ईरान में हिजाब के विरोध में सुलगी आग अब 50 से ज्यादा शहरों में फैल चुकी है। लोग सरकार के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रही महिलाएं और लड़कियां न तो हिजाब पहनने को तैयार हैं और ना ही बाल ढंकने को। इसके अलावा ये ढीली-ढाली ड्रेस पहनने के तानाशाही फरमान को मानने के मूड में भी नहीं दिख रही हैं।

PHOTOS: ईरान की 'ऐश्वर्या' कहलाती है ये एक्ट्रेस, देखने में हूबहू लगती है 'बच्चन बहू'

क्या कहता है शरिया कानून?
- ईरान एक इस्लामिक देश है, जहां शरिया कानून लागू है। ईरान में 7 साल से बड़ी लड़की को बिना हिजाब के घर से बाहर निकलने की मनाही है। 
- इसके साथ ही लड़कियों को 7 साल के बाद लंबे और ढीले कपड़े पहनने पड़ते हैं। ईरान में कोई लड़की सार्वजनिक तौर पर किसी मर्द से हाथ नहीं मिला सकती है। 
- यहां तक कि ईरान की महिलाओं को पुरुष खेलों को देखने के लिए उन्हें स्टेडियम जाने की इजाजत भी नहीं होती। 
- महिलाएं हिजाब पहनें, इसके लिए वहां की सरकार ने मॉरल पुलिस का गठन किया है। यह पुलिस हिजाब के नियम को लागू करवाने के लिए कई बार लोगों पर बेइंतहा जुल्म करती है।

ये भी देखें : 

कौन है महसा अमीनी जो हिजाब आंदोलन में बनीं पोस्टर गर्ल, मौत के बाद आखिर क्यों सुलग उठा ईरान?

हिजाब को लेकर सुलग रहे ईरान की 8 सबसे खूबसूरत एक्ट्रेस, 2 हीरोइनें कर चुकीं बॉलीवुड में काम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios