Asianet News Hindi

रूस के स्कूल में फायरिंगः सामने से आती मौत से बचने के लिए बिल्डिंग से लगाई बच्चों ने छलांग, नहीं बची जान

कजान शहर के सेंकेंड्री स्कूल नंबर 175 में हुए हमले के बारे में कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मंगलवार को दो हमलावर बंदूक लेकर घुसे थे। हालांकि, स्थानीय पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि हमलावर केवल एक था। हमलावर का नाम इलनाज गैल्यालियेव बताया जा रहा है। 19 वर्षीय हमलावर इसी स्कूल का पूर्व छात्र बताया जा रहा है। 

Russian School firing: Students jump from top floor to save but failed to escape DHA
Author
Moscow, First Published May 11, 2021, 6:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मास्को। कजान शहर के सेकेंड्री स्कूल के छात्रों ने सोचा भी नहीं होगा कि उनकी मौत का कारण कोई सीनियर होगा। हमलावर की मौत के साथ ही हमले की वजह भी शायद सामने न आ सके। हालांकि, अरेस्ट किए गए 17 साल के संदिग्ध से पूछताछ कर पुलिस मकसद पता लगाने की कोशिश कर रही है। पुलिस के अनुसार स्कूल में फायरिंग करने वाला युवक यहीं का पूर्व छात्र था। उधर, राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने नागरिकों के नाम रजिस्टर्ड गन के रिव्यू का आदेश दिया है। 

स्कूल के पूर्व छात्र का गोलीबारी में आया नाम

कजान शहर के सेंकेंड्री स्कूल नंबर 175 में हुए हमले के बारे में कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मंगलवार को दो हमलावर बंदूक लेकर घुसे थे। हालांकि, स्थानीय पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि हमलावर केवल एक था। हमलावर का नाम इलनाज गैल्यालियेव बताया जा रहा है। 19 वर्षीय हमलावर इसी स्कूल का पूर्व छात्र बताया जा रहा है। 

Read this also: रूस के स्कूल में अंधाधुंध फायरिंग, 8 बच्चों समेत 13 की मौत, दो बच्चों की कूदने से मौत

स्कूल में घुसते ही आटोमेटिक गन से फायरिंग कर दी

बताया जा रहा है कि गैल्यालियेव स्कूल में मेन गेट से अंदर गया होगा। अंदर जाकर उसने अपने आटोमेटिक गन से अंधाधुंध फायरिंग कर दी। कुछ लोगों का कहना है कि फायरिंग के पहले एक धमाका भी हुआ जिसे आसपास लोगों ने सुना था। 

फायरिंग की दहशत में जान बचाकर बिल्डिंग से कूदने लगे बच्चे

गैल्यालियेव ने जब फायरिंग करनी शुरू कर दी तो स्कूल में भगदड़ मच गया। बच्चे अपनी जान बचाने के लिए बिना सोचे-समझे बिल्डिंग के टाॅप फ्लोर से कूदने लगे। खून से लथपथ बच्चों को इमरजेंसी फस्र्ट एड दिया जा रहा है लेकिन कम से कम दो बच्चों की कूदने से मौत हुई है। 

फायर सर्विस ने सीढ़ियों से बच्चों को उतारा
इमरजेंसी मदद को पहुंची फायर सर्विस की टीम ने सीढ़ियों की मदद से फंसे बच्चों को निकाला। 

हमलावर पूर्व छात्र के पास था लाइसेंसी गन

आरोपी पूर्व छात्र गैल्यालियेव के पास लाइसेंसी गन था। इसी गन से उसने स्कूल में फायरिंग की है। 

 

पुतिन ने पब्लिक गन ownership के जांच का दिया आदेश

राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने इस नरसंहार की निंदा करते हुए पब्लिक गन ownership के रिव्यू का आदेश दिया है। दरअसल, खतरनाक हथियारों को हंटिंग राइफल्स के नाम पर रजिस्टर्ड कर दिया जा रहा है। राष्ट्रपति के आदेश की जानकारी देते हुए प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने बताया कि स्कूल पर हुए हमले में जिस फायर आर्म का प्रयोग हुआ है वह कानूनी तौर पर रजिस्टर्ड बताया जा रहा है। 

तीन साल पहले क्रिमिया के पाॅलिटेक्निक कालेज में फायरिंग
रूस में आमतौर पर ऐसी वारदातें कम होती हैं। कजान शहर के स्कूल में नरसंहार के पहले 2018 में रूस के क्रिमिया के कर्च पाॅलिटेक्निक कालेज में फायरिंग में 20 लोगों की जान गई थी। हालांकि, 2004 में बेसलान में आतंकी हमले में 333 लोग मारे गए थे। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios