Asianet News HindiAsianet News Hindi

Afghanistan छोड़ने US के पास बचे 2 दिन, नरम पड़े Taliban के तेवर, UNSC में भारत उठाएगा आतंकवाद का मुद्दा

Afghanistan पर तालिबान के कब्जे के बाद वहां से अपने लोगों को निकालने US के पास अब सिर्फ 2 दिन का वक्त बचा है। इसे लेकर दुनियाभर की नजरें टिकी हुई हैं।

Taliban Is Back, Worldwide Concerns About Afghanistan
Author
Kabul, First Published Aug 30, 2021, 8:23 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

काबुल. 15 अगस्त को काबुल पर कब्जा करने के बाद Taliban ने अमेरिका से दो टूक कहा था कि वो 31 अगस्त तक लोगों को निकालने का अपना मिशन पूरा कर ले। इसे अब 2 दिन बचे हैं। इसे लेकर दुनियाभर की नजरें टिकी हुई हैं। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि जब तक मिशन पूरा नहीं हो जाता, आगे भी जारी रहेगा। हालांकि माना जा रहा है कि अमेरिका 31 अगस्त तक अपना मिशन पूरा कर लेगा। इस बीच तालिबान ने कहा है कि अमेरिका 31 अगस्त के बाद भी अपना मिशन जारी रख सकता है। बता दें कि फ्रांस और ब्रिटेन अपना मिशन खत्म कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें-ISIS के ठिकाने पर अमेरिकी एयर स्ट्राइक की तस्वीरें आईं सामने; आधी रात 'काबुल के हत्यारे' के सिर पर गिरा बम

45000 लोग अफगानिस्तान से निकलने के इंतजार में
बता दें कि Afghanistan पर Taliban के कब्जे के बाद अमेरिका ने अपने सैनिकों को वहां से निकालने के लिए 31 अगस्त की तारीख मुकर्रर की है। यानी इसमें अब सिर्फ 2 दिन बचे हैं। लेकिन अभी भी अफगानिस्तान में 300 अमेरिकी सहित 45000 लोग ऐसे हैं, जो देश से निकलने का इंतजार कर रहे हैं। फ्रांस और ब्रिटेन अपना मिशन खत्म कर चुका है। पहले तालिबान ने अमेरिका को चेतावनी दी थी कि वो 31 अगस्त तक हर हाल में अपना मिशन पूरा कर ले। लेकिन अब तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने 'आजतक' से बातचीत में भरोसा दिलाया है कि अमेरिका 31 अगस्त के बाद भी लोगों को निकालने अपना मिशन जारी रख सकता है।

यह भी पढ़ें-Afghanistan Crisis:काबुल के धमाकों से उड़ी है दुनिया की नींद; आसापास की हर चीज-आदमी संदिग्ध दिखने लगी

अफगानिस्तान के उप राष्ट्रपति अमरुल्लाह पर लगाया भ्रम फैलाने का आरोप
तालिबान प्रवक्ता ने अफगानिस्तान के उप राष्ट्रपति(हालांकि तालिबान के बाद सरकार हटाई जा चुकी है) अमरुल्लाह सालेह पर तालिबान के खिलाफ प्रोपगेंडा(propaganda) फैलाने का आरोप लगाया है। तालिबान प्रवक्ता ने कहा कि उसके दुनिया के शक्तिशाली देशों से अच्छे रिश्ते हैं।

यह भी पढ़ें-छोड़ आए हम वो गलियां: Taliban शासन में जीना भी कोई जीना है, 50 लाख अफगानी मातृभूमि से भागने की तैयारी में

भारत के विदेश सचिव UN Security Council की मीटिंग में पहुंचे
अफगानिस्तान का मुद्दा इस समय दुनियाभर में छाया हुआ है। इस बीच भारत की अध्यक्षता में सोमवार को होने वाली राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (UN Security Council) की मीटिंग में अफगानिस्तान का मुद्दा फिर उठेगा। इसमें भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रंगला शामिल होने न्यूयॉर्क में हैं। (तस्वीर)

यह भी पढ़ें-ये युद्ध नहीं आसां: Taliban से शांति की 'भीख' मांगते अफगानी बच्चे, हमें जीने दो-पढ़ने दो, Emotional pictures

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios