Asianet News HindiAsianet News Hindi

अब समुद्र में भी दौड़ेंगे इलेक्ट्रिक कंटेनर शिप, Tesla की 100 कारों के बराबर है Battery capacity

इस शिप को Vard Norway ने बनाया है। Yara Birkeland electric ship की मदद से पोर्सग्रन कंपनी अपने प्लांट में कार्ब डॉयक्साइड का उत्सर्जन कम कर पाएगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक ये कंपनी नॉर्वे में भारी मात्रा में CO2 का उत्पादन करती है। ये शिप संभावित दुर्गटना से बचने के लिए आधुनिक सेंसर का इस्तेमाल करती है। 
 

Yara Birkeland electric ship will run in the sea, reduce 1,000 tons of carbon emission Norway Fertilizer Auto news rps
Author
Bhopal, First Published Nov 23, 2021, 11:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क । नार्वे में पर्यावरण को सुरक्षित रखने के साथ ईंधन के वैकल्पिक साधनों पर जोर दिया जा रहा है। इसके प्रयासों के तहत फर्टिलाइजर कंपनी Yara  दुनिया का पहला पूरी तरह से इलेक्ट्रिक और सेल्फ-स्टीयरिंग कंटेनर शिप समुद्र में उतारने जा  रही है। ये शिप Norway के  south coast पर उतारा जाएगा। यह इस देश की कार्बन इमिशन को कम करने की योजना में बड़ी पहल है। इस शिप का नाम Yara Birkeland रखा गया है। 

1,000 टन कार्बन इमिशन होगा कम
न्यूज़ एजेंसी Reuters की रिपोर्ट के अनुसार, इस Yara Birkeland electric ship की मदद से हर साल लगभग 1,000 टन कार्बन इमिशन को कम किया जा सकता है। आगामी दो सालों में ये शिप पूरी तरह ऑटोनॉमस होने जाएगी। बता दें कि इस शिप का संचालन कंपनी के दक्षिणी नॉर्वे में मौजूद प्लांट और इसके  Brevik में एक्सपोर्ट पोर्ट के बीच की लगभग 14 किलोमीटर की दूरी को पाटेगा । अभी तक दोनों स्थानों के बीच फर्टिलाइजर पहुंचाने के लिए सड़क मार्ग से वाहनों का  इस्तेमाल किया जाता है। इससे कंपनी का खर्च भी घटेगा, जिससे किसानों को सस्ता Fertilizer मिलेगा। वहीं प्रदूषण नियंत्रण में भी सहायता मिलेगी।

दुनिया के दूसरे देश भी होंगे प्रेरित
इस शिप को Vard Norway ने बनाया है। Yara Birkeland electric ship की मदद से पोर्सग्रन कंपनी अपने प्लांट मेंकार्ब डॉयक्साइड का उत्सर्जन कर पाएगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक ये कंपनी नॉर्वे में भारी मात्रा में CO2 का उत्पादन करती है। कंपनी के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर, स्वेन टोर होलथर (Chief Executive Officer, Sven Tor Holther) ने कहा, "यह पॉसिबिल है इसे दिखाने के लिए हमने टेक्नोलॉजी से जुड़ा अहम कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में इस तरह इलेक्ट्रिक शिप चलाकर प्रदूषण को कम किया जा सकता है। 

 स्वचालित तकनीक से करेगा काम
यह शिप स्वचालित तकनीक से कार्गो को लोड और ऑफलोड करेगा, ये खुद ही बैटरी को रिचार्ज करेगा और नेविगेट कर सकेगा। इस शिप में बेहतरीन सेंसर्स लगाए गए हैं जो समुद्र में दूसरी शिप और चट्टानों की पहचान कर सकते हैं। कंपनी की योजना के मुताबिक ये शिप हफ्ते में  दो राउंड लगाएगा। इसकी कैपेसिटी एक बार में 20 फुट के फर्टिलाइजर के 120 कंटेनर ले जाने की है। 

टेस्ला की लगभग 100 कारों के बराबर एक शिप की बैटरी
कंपनी की दी गई जानकारी के मुताबिक इसकी बैटरी स्विट्जरलैंड की कंपनी Leclanche ने बनाई हैं। इसमें आठ बैटरी रूम बनाए गए हैं। ये बैटरी 7 मेगावॉट आवर्स की पावर जनरेट करते हैं, रिपोर्ट के मुताबिक इस शिप में उपयोग की जा रहीं बैटरी की क्षमता टेस्ला  की लगभग 100 कारों के बराबर है। जिस तरह से दुनिया में इलेक्ट्रिक सेगमेंट बढ़ रहा है, उम्मीद की जाल रही है कि बैटरी चलित शिप का खर्च कम होने पर इसका बड़ी संख्या में इस्तेमाल शुरु होगा।  

ये भी पढ़ें-
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी खरीदने जा रहे hydrogen ईंधन से चलने वाली कार, कहा- भविष्य इसी का है
Rolls-Royce ई-एयरक्राफ्ट ने हासिल की दुनिया सबसे तेज रफ्तार, देखें हैरतअंगेज वीडियो
नई Mahindra Scorpio SUV को देखकर रह जाएंगे सन्न, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहीं
भारत से सिंगापुर के लिए 6 उड़ानें होंगी शुरू, Vaccinated Travel Pass के लिए आज से कर सकते हैं Apply
BMW ने शुरु किया इलेक्ट्रिक स्कूटर CE 04 का प्रोडक्शन, Modern technology का किया गया इस्तेमाल,
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios