Asianet News HindiAsianet News Hindi

ओलम्पिक में 70 मेडल लाने क्या है प्लान? UPSC 2020 में ऐसे सवालों के जवाब ने किसलय को बनाया ऑफिसर

किसलय कुशवाहा (Kislay Kushwah) जिन्होंने बताया कि, ऑफिसर बनने के बाद उनसे किस तहर के सवाल किए गए। जिनके जवाब देने के बारे में शायद हर किसी को दस बार सोचना पड़ता। आइए जानते हैं उन सवालों के बारे में।

Interview with UPSC 2020 achievers Kislay Kushwah, know from him tips to crack Civil Service Exam
Author
Delhi, First Published Nov 7, 2021, 6:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। UPSC में 526वीं रैंक हासिल करने वाले किसलय कुशवाह ने अपने इंटरव्यू से जुड़े कुछ तथ्यों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि, आपसे इस तरह के सवाल उस समय किए जाते हैं जिसके बारे में शायद आपको या हमें कई बार सोचना पड़ता है। कई तरह की चीजों का खास ध्यान रखना पड़ता है, चाहे वो टाइम मैनेजमेंट हो शारीरिक या मानसिक स्वास्थ्य हो या फिर परीक्षा की तैयारी करना हो। हर किसी को आपको बराबर का समय देना पड़ता है। जिसके जवाब किसलय कुशवाह ने काफी अच्छे से दिए। आपको बता दें कि,  संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट (Final Result) में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी (Success Journey) पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में हमने किसलय कुशवाह से बातचीत की। आइए जानते हैं किसलय कुशवाह ने अपने इंटरव्यू में किन-किन बातों का जिक्र किया।

ओलम्पिक में अभी सात मेडल आये थे, उसे अगले ओलम्पिक में 70 करना हो तो क्या प्लान हो सकता है?

यह सुनिश्चित करें कि जितने प्लेयर मेडल अभी लाये हैं। अगले ओलम्पिक में ये सारे प्लेयर मेडल लेकर आएं। जो प्लेयर बहुत छोटे से मार्जिन से मेडल पाने से चूक चुके हैं। उन पर अच्छे से फोकस करें ताकि अगले ओलम्पिक में आटोमेटिकली 20 मेडल क्रास कर जाए। बाकि मेडल की संख्या बढाने के लिए नये नये प्लेयर चिन्हित करने होंगे। उनको प्रशिक्षित करना होगा। लम्बे समय में लाभ के लिए व्यवस्थित संस्थान बनाना होगा तकि जिला, जोन, ब्लाक स्तर पर प्रतिस्पर्धा सिस्टम का हिस्सा बन जाए। स्कूल में भी खेल को प्रोत्साहन मिले। बच्चे जो गेम खेलना चाहे, उन्हें वह खेलने की सुविधा उपलब्ध हो।

टाइम मैनेजमेंट पर ध्यान जरूरी

किसलय का कहना है कि सूचना प्रौद्योगिकी के मौजूदा दौर में सूचनाओं और जानकारियों की कमी नहीं है। यह भरी पड़ी है। यूथ भी जागरूक है, पर यूथ को अपने समय को बेवजह के कामों में बर्बाद नहीं करना चाहिए। यूथ के लिए टाइम मैनेजमेंट पर ध्यान देना सबसे ज्यादा जरूरी है। यदि आपका लक्ष्य स्पष्ट है तो आपको खुद को अपने लक्ष्य की प्राप्ति में लगा देना चाहिए। मौजूदा दौर में टेक्नोलाजी ने दूरियों को कम कर दिया है। टेक्नोलाजी जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है पर हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हमें तकनीक को इस्तेमाल करना है न कि आदमी टेक्नोलाजी से इतना प्रभावित हो जाए कि इससे उसे नुकसान हो। टेक्नोलाजी की वजह से शिक्षा, स्वास्थ्य वगैरह काफी सस्ती हुई हैं। हमें इसका लाभ उठाना चाहिए।

पहले तैयारी करने के तरीके को अपनी अप्रोच बनाइए

किसलय का कहना है कि किसी परीक्षा की तैयारी करने से पहले खुद को एक बार आंक लेना चाहिए। अपनी ताकत व कमजोरियों का विश्लेषण करने के बाद योजना बनानी चाहिए। अब यदि आपको लगता है कि आपको यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए, तब पहले आप अपने समय के सदुपयोग पर ध्यान दें। योजना के अनुसार पढाई करनी चाहिए। उसमें कंसिस्टेंसी व परसिस्टेंसी बहुत जरूरी है। आप एक महीने यही स्टडी करो कि यूपीएससी क्रैक करने वाले लागों  ने कैसे तैयारी की है। उन्होंने कौन सा मैटेरियल यूज किया। यह दीगर बात है। पहले तैयारी करने के तरीके का अपना अप्रोच बनाइए। पॉजिटिव माइंडसेट बहुत महत्वपूर्ण है, ताकि अगर असफलता मिले तो आप उसमें टूट न जाएं, बल्कि उसे स्वीकार कर सकें।

मानसिक स्वास्थ्य महत्वपूर्ण

किसलय कहते हैं कि कई बार देखने में आया है कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने वाले स्टूडेंट अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रखते हैं। बहुत से लोग ऐसी लाइफ स्टाइल में चले जाते हैं कि आखिरी समय पर ही उनका स्वास्थ्य खराब हो जाता है और वह मौका चूक जाते हैं।  मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना सबसे महत्वपूर्ण है। आपका मानसिक स्वास्थ्य उतना ही अहम है, जितना की शारीरिक स्वास्थ्य।

इसे भी पढ़ें- 

UPSC 2020 टॉपर वरुणा अग्रवाल ने कंपटीशन की तैयारी में लगे स्टूडेंट्स के लिए बताए धांसू Do & Don'ts

कोविड-19 के दौरान सोशल मीडिया का क्या इस्तेमाल था, UPSC में 90वीं रैंक पाने वाले कैंडिडेट से पूछा गया ऐसा सवाल

हेल्थकेयर में क्या दिक्कतें हैं? UPSC इंटरव्यू में 44वीं रैंक पाने वाले दिव्यांशु से पूछे गए थे ऐसे सवाल

UPSC 2020 टॉपर स्पीकः देश की ग्रोथ स्टोरी में रोल प्ले करना चाहते हैं तो बेस्ट प्लेटफॉर्म है सिविल सर्विस

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios