Asianet News HindiAsianet News Hindi

UPSC Success Story: 1990 और वर्तमान इंडियन क्रिकेट टीम में क्या अंतर? UPSC 2020 में वैभव से पूछे गए ऐसे सवाल

वैभव जिंदल छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के कांसाबेल गांव के रहने वाले हैं। वैभव की ऑल इंडिया में 253वीं रैंक आयी है। उन्हें भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैटगरी मिलने की उम्मीद है। वैभव से इंटरव्यू में कई तरह के सवाल पूछे गए थे। इन सवालों के जवाब देकर उन्होंने UPSC का एगजाम क्रैक किया।  

Interview with UPSC 2020 achievers Vaibhav Jindal, know the questions asked to her pwt
Author
New Delhi, First Published Nov 8, 2021, 9:10 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा क्वालीफाई करने के लिए प्री और मेंस के साथ इंटरव्यू भी देना होता है। तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स पढ़ाई के साथ-साथ जनरल नॉलेज पर भी फोकस करते हैं। क्योंकि इंटरव्यू में सवाल सिलेब्स के बाहर के होते हैं। तैयारी करने वाले कैंडिडेट्स के मन में इंटरव्यू को लेकर कई तरह के सवाल भी होते हैं अक्सर उनके दिमाग में ये चलता है कि किस तरह के सवाल पूछे जाएंगे। वैभव जिंदल (Vaibhav Jindal) ने  की UPSC 2020 में 253वीं रैंक आयी है। उन्हें भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैटगरी मिलने की उम्मीद है। वैभव से भी कई तरह के सवाल पूछे गए थे। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट (Final Result) में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी (Success Journey) पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में हमने वैभव से बातचीत की। आइए जानते हैं वैभव से UPSC इंटरव्यू में किस तरह के सवाल पूछे गए थे और उनके जवाब क्या हैं। 


सवाल- कॉलेज के दिनों में आपका स्टार्टअप क्या था?
जवाब-
वह एक एजूकेशनल स्टार्टअप था। सारे बच्चों के लिए एक सिंगल विंडो प्लेटफार्म बनाते थे। जिसमें हर कॉलेज के इवेंट और कंपिटीशन एक ही प्लेटफार्म पर आएं और बच्चे वहीं से आवेदन करें।

सवाल- आप किस हिल स्टेशन गए हैं, वहां कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?
जवाब-
शिमला गया था। वहां वाटर क्राइसिस की समस्या हो गयी थी। वहां के प्रशासन ने उसे कैसे हल किया इस बारे में बताया।

सवाल- भारत पांच ट्रीलियन डॉलर इकॉनमी बन पाएगा या नहीं, उसमें क्या चैलेंज आएंगे और क्या समाधान चाहिए?
जवाब
- मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर, रोजगार, बैकिंग सेक्टर के नान परफार्मिंग असेट से जुड़ी समस्याए हैं। एमएसएमई सेक्टर को ग्रो करना चाहिए। एजुकेशन सेक्टर में बदलाव लाना चाहिए। टेक्नोलाजी ग्रो होनी चाहिए।

सवाल- जाति जनगणना होनी चाहिए या नहीं?
जवाब-
अंतिम जाति जनगणना अंग्रेजों के समय में 1931 में हुई थी। भारत में जो जाति जनगणना वर्ष 2011 में हुई थी। उसका परिणाम नहीं निकाला गया। यह बताया गया कि उसमें जो तकनीक प्रयोग की गयी, वह सही नहीं है। सरकार उसकी समीक्षा कर रही है। जब हमें भारत में यह ही नहीं पता होगा कि किस जाति के कितने लोग रह रहे हैं तो हम उनकी समस्याएं कैसे हल करेंगे। सरकार कहती है कि डेटा ड्रिवेन पॉलिसी होनी चाहिए। पर जब डेटा ही नहीं होगा तो पॉलिसी कैसे आएगी।

सवाल- इंडिया क्रिकेट टीम 1990 और वर्तमान में जो परफॉर्म कर रही है, उसमें क्या अंतर है?
जवाब-
कई सारे तथ्य हैं। जैसे- टेक्नोलॉजी और फाइनेंस इत्यादि। आईपीएल की तरह कई सारे होम लीग शुरू हो चुके हैं।

सवाल- मिनिस्ट्री ऑफ सोशल जस्टिस के तहत स्टेट कोआर्डिनेटर के पद पर आप क्या काम करते हैं?
जवाब-
ट्राइबल सेक्शन के लिए काम करते हैं। उनके इंस्टीटयूशन का निरीक्षण करते थे।

कौन हैं वैभव जिंदल
वैभव जिंदल छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के कांसाबेल गांव के रहने वाले हैं। वैभव की ऑल इंडिया में 253वीं रैंक आयी है। उन्हें भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैटगरी मिलने की उम्मीद है। निम्न मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले वैभव की सफलता का सफर संघर्षों से भरा रहा। वैभव ने अलग-अलग जगहों से पढ़ाई पूरी की। आर्थिक दिक्कतें भी उनकी राह का रोड़ा बनीं लेकिन उनका सपना था UPSC की परीक्षा पास करना।

वैभव ने सातवीं कक्षा तक की पढ़ाई कांसाबेल स्थित सरस्वती शिशु मंदिर से पूरी की। 8 से 10वीं तक उन्होंने रायपुर के बोर्डिंग स्कूल में पूरी की। 11वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई कानपुर स्थित जेके स्कूल से कॉमर्स विषय में की। 2015 में सीबीएसई बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में 98.2 फीसदी अंक के साथ कॉमर्स के टॉपर थे। श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, दिल्ली से ग्रेजुएशन किया और ग्रेजुएशन का अंतिम वर्ष पूरा होते ही उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा में भी हाथ आजमाया। यूपीएससी 2020 में यह उनका तीसरा प्रयास था।

इसे भी पढ़ें- UPSC Success Story:शिशु मंदिर से पढ़ाई, अंग्रेजी नहीं आती, UPSC 2020 क्रैक करने वाले वैभव ऐसे होते थे मोटिवेट

UPSC Success Story: हेल्दी फूड व हेल्दी लिविंग बहुत जरूरी...UPSC 2020 क्लियर करने वाले वैभव ने बताए Do &Don'ts

UPSC 2020 टॉपर वरुणा अग्रवाल ने कंपटीशन की तैयारी में लगे स्टूडेंट्स के लिए बताए धांसू Do & Don'ts

कोविड-19 के दौरान सोशल मीडिया का क्या इस्तेमाल था, UPSC में 90वीं रैंक पाने वाले कैंडिडेट से पूछा गया ऐसा सवाल


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios