Asianet News HindiAsianet News Hindi

UPSC Success Story: देवास का संगीत से क्या रिश्ता है? ऐसे सवालों का जवाब देकर UPSC 2020 का टॉपर बनेगा IPS

मध्य प्रदेश के देवास शहर के राजाराम नगर निवासी आयुष गुप्ता (ayush gupta) ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा दूसरे अटेम्पट में क्वालिफाई कर ली। आईआईटी दिल्ली से ग्रेजुएट आयुष को भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैटगरी मिलने की उम्मीद है। उनसे इंटरव्यू में कई तरह के सवाल पूछे गए थे।

UPSC 2020 interview with achiever Ayush Gupta questions asked to him IPS civil service exam pwt
Author
New Delhi, First Published Nov 10, 2021, 2:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  देश में हर साल लाखों बच्चे यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करते हैं।  यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा का प्री और मेंस काफी टफ होता इसके साथ इंटरव्यू में भी कैंडिडेट्स को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। आईएएस इंटरव्यू (IAS interview) के सवाल काफी चर्चा में रहते हैं। मध्य प्रदेश के देवास शहर के राजाराम नगर निवासी आयुष गुप्ता (ayush gupta) ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा दूसरे अटेम्पट में क्वालिफाई कर ली। आईआईटी दिल्ली से ग्रेजुएट आयुष को भारतीय पुलिस सेवा (IPS) कैटगरी मिलने की उम्मीद है। उनसे इंटरव्यू में कई तरह के सवाल पूछे गए थे। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) के नतीजे 24 सितंबर, 2021 को जारी किए गए। फाइनल रिजल्ट (Final Result) में कुल 761 कैंडिडेट्स को चुना गया। Asianetnews Hindi संघ लोक सेवा आयोग (UPSC 2020) में सिलेक्ट हुए 100 कैंडिडेट्स की सक्सेज जर्नी (Success Journey) पर एक सीरीज चला रहा है। इसी कड़ी में हमने आयुष से बातचीत की। आइए जानते हैं आयुष से किस तरह के सवाल किए गए थे।


सवाल- देवास शहर के बारे में बताइए, उसने आपकी पढ़ीई में किस तरह हेल्प की?
जवाब-
देवास एक शांत शहर है। यह इंडस्ट्रियल टाउन है। शहर में पढ़ाई की तरफ ज्यादा फोकस रहता है। यहां पढ़ाई करने के मौके ज्यादा रहते हैं। यहां का लॉ एंड ऑर्डर अच्छा रहता है। यह सब चीजें मुझे मोटिवेट करती हैं। मेरी पढ़ाई के लिए यह शहर अच्छा रहा। इस तरह इस शहर का मेरी पढ़ाई में योगदान रहा।

सवाल- देवास का संगीत से क्या रिश्ता है?
जवाब-
कुमार गंधर्व देवास के रहने वाले हैं। उन्हें पद्म विभूषण मिला है। उनका देवास से रिश्ता है और देवास का संगीत से। इसके अलावा यहां एक धार्मिक स्थल टेकरी है। लोगों की उस धार्मिक स्थल के प्रति आस्था है।

सवाल- भारत में टेक्सटाइल सेक्टर के बारे में बताइए?
जवाब-
भारत में टेक्सटाइल सेक्टर में सुधार करने की जरूरत है। फैब्रिक्स सेक्टर को मजबूत करने की जरूरत है। एक्सपोर्ट पर ध्यान देना है। कुछ प्रोडक्ट पर ध्यान देना जरूरी है।

सवाल- टेक्सटाइल को कैसे इम्प्रूव करेंगे?
जवाब-
एक तरफ हम हैंडलूम सेक्टर पर ध्यान देंगे और दूसरी तरफ नई तरह की तकनीक लाएंगे। हम टैक्सटाल में रिसर्च करेंगे कि कैसे अच्छी मशीन बनाए क्योंकि हम जो मशीन बाहर से लाते हैं, उसमें बहुत खर्चा होता है। यह टेक्सटाइल सेक्टर के लिए बेहतर होगा।

सवाल- नीट परीक्षा में अभी क्या कंटोवर्सी चल रही है?
जवाब-
नीट एग्जाम में स्थानीय भाषाओं में भी पेपर बनना चाहिए। स्थानीय भाषाओं को बढ़ावा देना चाहिए।

सवाल- बांग्लादेश क्यों इतना ग्रोथ कर रहा है?
जवाब-
वहां पर लघु उदयोगों पर बहुत ध्यान दिया गया है। महिला सशक्तिकरण पर बहुत ध्यान दिया गया है। इन कारणों की वजह से बांग्लादेश ग्रोथ कर रहा है।

सवाल- अफगानिस्तान को लेकर क्या करना चाहिए?
जवाब-
अफगानिस्तान को लेकर हमें क्या कदम उठाना चाहिए। इसको लेकर हमें अपने सारे विकल्प खुले रखने चाहिए। जिससे हमारे देश को कभी कोई नुकसान न हो।


अपनी कमियों का पता लगाया
आयुष का कहना है कि पहले अटेम्पट में सिर्फ 8 नंबरों की कमी की वजह से कट ऑफ छूटा था। रिजर्व लिस्ट में उनका नाम आया था तो वह यही सोच रहे थे कि आठ मार्क लाने के लिए क्या सुधार करना होगा। उनके वैकल्पिक विषय में मार्क बहुत कम थे। पहले अटेम्पट में आप्श्नल सब्जेक्ट में 242 अंक मिले थे। इस बार 289 अंक मिले हैं। पिछली बार की तुलना में इस बार 43 अंकों का सुधार है। ठीक इसी तरह आप अपनी कमियों का पता लगाइए और आगे बढ़िए। उन कमियों को दूर करके आप अच्छे अंक ला सकते हैं। जीवन में भी ऐसा ही करना होता है। जहां भी आपकी कमियां हैं, उसे दूर कर आगे बढें।

ऐसे होते थे मोटिवेट
आयुष कहते हैं कि उनके लिए परीक्षा को क्लियर करना ही अपने आप में एक मोटिवेशन है। जब हम ऐसी परीक्षा पास करेंगे, जिसमें लाखों बच्चे प्रयास कर रहे हैं। तब हमें महसूस होता है कि हमने कुछ बेहतर किया है। वह घर पर हमेशा बात करते रहते थे। क्रिकेट देखना, यूटयूब पर अलग तरह के वीडियोज देखना उनका शौक है। समय समय पर दोस्तों से बातचीत भी करते थे। इससे उन्हें खुद को मोटिवेट रखने में काफी मदद मिली।

इसे भी पढ़ें- 
UPSC Success Story: 2nd अटेम्प्ट में 98वीं रैंक पाने वाले आयुष गुप्ता ने ऐसे तय किया IIT से IPS बनने का सफर

UPSC Success Story:शिशु मंदिर से पढ़ाई, अंग्रेजी नहीं आती, UPSC 2020 क्रैक करने वाले वैभव ऐसे होते थे मोटिवेट

UPSC Success Story: हेल्दी फूड व हेल्दी लिविंग बहुत जरूरी...UPSC 2020 क्लियर करने वाले वैभव ने बताए Do &Don'ts

UPSC 2020 टॉपर वरुणा अग्रवाल ने कंपटीशन की तैयारी में लगे स्टूडेंट्स के लिए बताए धांसू Do & Don'ts

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios