Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना में छीना गरीबों का निवाला: काली कमाई का पैसा किया शेयर मार्केट में इन्वेस्ट, अब आए IT के घेरे में

कोरोना के समय गरीबों को बटने वाली दाल के लिए मिले पैसे को साठगाठ कर शेयर मार्केट में किया इन्वेस्ट अब जाके इनकम टैक्स के चक्कर में पकड़ाए दोनो आरोपी। 3 नवंबर यानि आज की सुबह से इनके ठिकानों में पड़ी रेड अभी भी जारी है।

jaipur crime news income tax raid two businessman in bikaner and jodhpur involved in fraud during covid-19 pulse distribution money asc
Author
First Published Nov 3, 2022, 4:25 PM IST

जयपुर (jaipur). राजस्थान के बीकानेर और जोधपुर में आज सुबह दो अलग-अलग बिजनेस ग्रुप के ठिकानों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की रेड पड़ी जो अभी भी जारी है। यह रेड इनकम टैक्स में कोरोना में गरीबों को इन उद्योगपतियों द्वारा सप्लाई की जाने वाली दाल की गड़बड़ी और इनकम टैक्स में बेहिसाब पैसा इन्वेस्टमेंट करने के चलते की है। फिलहाल इनके ठिकानों पर अभी भी रेड जारी है।

कोरोना में दाल बांटने का टैंडर मिला, चाल चल बनाई काली कमाई
इनकम टैक्स के अधिकारियों के मुताबिक राजस्थान में कोरोना काल में गरीबों को दाल बांटने का काम बीकानेर के झंवर ग्रुप और जोधपुर के एक बिजनेस ग्रुप को दिया गया था। दोनों नहीं सांठगांठ की और इसमें करोड़ों रुपए का घपला कर लिया। लेकिन पैसे को इन्वेस्ट करने के लिए इन्होंने शेयर मार्केट को जरिया बनाया। कोरोना काल से ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इन पर पूरी नजर बनाए हुए था। जैसे ही इन्होंने शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करना शुरू किया तो यह इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के शक के दायरे में भी आ गए।

करोड़ों  किए शेयर मार्केट में इन्वेस्ट
करीब 1 सप्ताह पहले तक दोनों बिजनेस ग्रुप ने करोड़ों रुपए शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कर दिए। इसके बाद आज इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने दोनों ग्रुप के ठिकानों पर सुबह रेड शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि यहां से इनकम टैक्स अधिकारियों को कई ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के दस्तावेज भी मिले हैं। फिलहाल पूरी रेड होने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

गौरतलब है कि इससे पहले राजस्थान में हाल ही में अलवर जिले में भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एक बड़ी कार्रवाई की थी। जहां एक गुटखा व्यापारी के घर पर 4 दिन तक चले छापे के बाद करीब 60 करोड रुपए की अघोषित आय मिली थी। जिस पर करीब 45 करोड़ रुपए का  का जुर्माना लगाया गया था।

यह भी पढ़े- हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन की विधायकी भी खतरे में, ऑफिस ऑफ प्रॉफिट केस में EC ने गवर्नर को भेजी चिट्ठी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios