Telangana  

(Search results - 136)
  • <p>jcb से शख्स की पिटाई </p>
    Video Icon

    Other States8, Jul 2020, 3:08 PM

    दर्दनाक; जेसीबी से शख्स की पिटाई, सिर पर रखा लोडर बकेट और पहिए के नीचे गिराया, देखिए वीडियो

    वीडियो डेस्क। तेलंगाना के मुलुगू से एक वीडियो सामने आया है, जिसमें जेसीबी का ड्राइवर जेसीबी से ही शख्स की पीट रहा है। ड्राइवर ने शख्स को लोडर बकेट से मारकर नीचे गिरा दिया। शख्स बुरी तरह घायल हो गया है। 

  • <p><br />
Colonel Santosh Babu</p>

    National22, Jun 2020, 2:01 PM

    India-China FaceOff : देश के लिए शहीद हुआ पति, अब पत्नी बनी डिप्टी कलेक्टर, मिली बड़ी जिम्मेदारी

    नई दिल्ली. भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में कर्नल संतोष बाबू शहीद हो गए थे। अब राज्य सरकार ने उनकी पत्नी को डिप्टी कलेक्टर नियुक्त किया है। तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव ने उन्हें सूर्यपेट जिले का डिप्टी कलेक्टर बनाया है। 15 जून को पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प ने भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। उसमें कर्नल संतोष बाबू भी थे। कर्नल संतोष के परिवार में पत्नी, एक बेटा और एक बेटी हैं। उनके पिता फिजिकल एजुकेशन टीचर हैं। शहीद संतोष ने हैदराबाद के सैनिक स्कूल में पढ़ाई की, फिर वे एनडीए के लिए चुने गए थे।

  • National19, Jun 2020, 8:50 PM

    गलवान में शहीद कर्नल संतोष बाबू के परिजनों को 5 करोड़ रु और प्लॉट देगी सरकार, पत्नी को सरकारी नौकरी

    गलवान में 15 जून को चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हुए थे। वीर जांबाजों में तेलंगाना के कर्नल संतोष बाबू भी शामिल थे। शुक्रवार को तेलंगाना में केसी राव की सरकार ने कर्नल संतोष बाबू के परिजनों को 5 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है।
     

  • <p>santosh babu</p>
    Video Icon

    National19, Jun 2020, 6:03 PM

    मासूम ने पिता को किया सैल्यूट, पत्नी हाथ जोड़ खड़ी रही, रुला देंगीं शहीदों की अंतिम विदाई

    वीडियो डेस्क। लद्दाख में चीन की सेना के साथ हुई हिंसक झड़प में देश के नाम पर अपनी जान गंवाने वाले तेलंगाना के कर्नल संतोष बाबू का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनकी पत्नी और उनके चार साल के बेटे अनिरुद्ध ने उन्हें नम आंखों से विदाई दी। 

  • National9, Jun 2020, 3:57 PM

    लॉकडाउन में बंद हुआ कॉलेज तो घर लौटी बेटी मिली प्रेग्नेंट, अबॉर्शन से इंकार किया तो मां-बाप ने दी दर्दनाक मौत

    हैदराबाद. कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन लागू किया गया। इस दौरान सभी स्कूल-कॉलेज बंद हो गए। जिसके बाद कॉलेज में पढ़ने वाली बेटी घर लौटी। घरवालों को पता चला कि बेटी बिना शादी के ही गर्भवती थी। कुछ दिन तक तो बेटी को कमरे में बंद करके रखा कि इस बात की जानकारी गांव में न फैल जाए। लेकिन बाद में परिजनों ने अबॉर्शन कराने के निर्णय लिया। लेकिन बेटी ने इससे इंकार कर दिया। जिसके बाद मां-बाप ने बेटी का ही कत्ल कर दिया। 
     

  • <p>The Telangana government has decided to promote all the SSC students to the next class without conducting examinations</p>

    Careers9, Jun 2020, 9:50 AM

    महामारी देख इस राज्य सरकार का बड़ा फैसला, 10वीं बोर्ड के सभी स्टूडेंट्स किया जाएगा प्रमोट

    8 जून से  से राज्य में बोर्ड परीक्षाएं होनी थीं, जिसे कोरोना वायरस महामारी के चलते हाईकोर्ट द्वारा रोक लगा दी गई थी। दरअसल, हैदराबाद में काफी मामले सामने आ रहे हैं इसीलिए सरकार ने ऐसा फैसला लिया है।

  • <p> तेलंगाना से ओडिशा जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन में शुक्रवार को एक 19 साल की लडक़ी  मीना ने बच्चे को जन्म दिया। मीना कुंभार तेलंगाना में काम करती थी और लॉकडाउन के कारण यहां फंसी हुई थी। श्रमिक ट्रेन में वह अपने घर ओडिशा जा रही थी।</p>

    National5, Jun 2020, 3:04 PM

    ट्रेन से घर जा रही थी 19 साल की लड़की, अचानक उठा दर्द, श्रमिक स्पेशल ट्रेन में ही दिया बच्चे को जन्म

    हैदराबाद। लॉकडाउन के चलते देश में मजदूरों को उनके घर वापस भेजने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं। तेलंगाना से ओडिशा जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन में शुक्रवार को एक 19 साल की लडक़ी  मीना ने बच्चे को जन्म दिया। मीना कुंभार तेलंगाना में काम करती थी और लॉकडाउन के कारण यहां फंसी हुई थी। श्रमिक ट्रेन में वह अपने घर ओडिशा जा रही थी। ईस्ट कोस्ट रेलवे ने बताया कि लडक़ी ने एक लडक़े को जन्म दिया है और दोनों पूरी तरह स्वस्थय हैं। महिला को चलती ट्रेन में लेबर पेन हो गया था। इसके बाद उसकी डिलेवरी ट्रेन में ही  हो गई। ट्रेन जैसे ही तितलीगढ़ पहुंची तो महिला के पास रेलवे के डॉक्टर पहुंचे। महिला को डॉक्टर्स की सलाह पर सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टर ने कहा कि महिला और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

  • Video Icon

    National5, Jun 2020, 11:10 AM

    बिजली के तारों पर चला शख्स, वीडियो देख रह जाएंगे दंग

    तेलंगाना में एक व्यक्ति बिजली की नंगी तारों पर चढ़ गया और चलने लगा।  हाई टेंशन तारों पर चलते हुए बिजली विभाग के एक ठेका कर्मचारी का डरावना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। बारिश के साथ तेज हवाओं के कारण एक पेड़ की शाखा हाई टेंशन तार पर गिर गई थी, जिसके कारण क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बाधित हो गई थी। 

  • <p>केरल सरकार ने 11वीं की एक छात्रा को परीक्षा देने के लिए 70 सीटों की नाव उपलब्ध कराई। छात्रा ने बोट में दो दिन अकेले जाकर परीक्षा दी। </p>

    Other States2, Jun 2020, 11:47 AM

    छात्रा की परीक्षा न छूटे इसलिए 70 सीटों की नाव में अकेले पहुंचाया स्कूल, जमकर हो रही तारीफ

    अलफुजा। केरल के अल्फुजा जिले में रहने वाली 11वीं की छात्रा सांद्रा बाबु ने जैसी ही सुना कि उसके बचे हुए पेपर होने वाले हैं, वह परेशान हो गई। क्योंकि केरोना के कारण उसके पेपर बीच में पोस्टपोन्ड हो गए थे। वह अपने रिश्तेदार के यहां रह रही थी। उसका स्कूल उसके घर से दूसरे जिले कोयट्टम में है। छात्रा को अपने घर से स्कूल जाने के लिए बोट का सहारा लेना पड़ता है।

    लॉकडाउन लगे होने के कारण स्कूल तक चलने वाली सभी नाव बंद हैं। इस बात की जानकारी जैसे ही स्टेट वाटर ट्रांसपोर्ट विभाग को मिली तो, प्रशासन ने 70 सीटों की नाव छात्रा को स्कूल पहुंचाने के लिए भेज दी। सांद्रा के दो पेपर बचे हुए थे जो 29 और 30 को थे। प्रशासन ने दोनों दिन 70 सीटों की बोट में अकेले ले जाकर परीक्षा दिलाई। प्रशासन की इस मदद की सभी ने तारीफ की है।

  • <p>तेलंगाना के पूर्व एमएलए रामचंद्र रेड्डी कोरोना से संक्रमित हो गये हैं। उन्हें एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती किया गया है। </p>

    National2, Jun 2020, 11:28 AM

    तेलंगाना के भाजपा नेता रेड्डी कोरोना पॉजिटिव, परिवार समेत अस्पताल में भर्ती

    हैदराबाद। तेलंगाना में भाजपा पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व एमएलए रामचंद्र रेड्डी कोरोना पॉजिटिव पाये गए हैं। उन्हें हैदराबाद के अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया है। सूत्रों के मुताबिक, उन्हें रविवार को कोरोना के लक्षण लग रहे थे। इसके बाद, उन्हें रविवार को अस्पताल में लाया गया। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रेड्डी की पत्नी और बेटे को भी उसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों की कोरोना जांच की गई है और रिपोर्ट आना बाकि है। गौरतलब है कि तेलंगाना में रामचंद्र रेड्डी पहले नेता हैं, जो कोरोना से संक्रमित हुए हैं।

  • <p>राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने रविवार को कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है। रविवार को राज्य सरकार ने इसको लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। </p>

    Other States31, May 2020, 9:38 PM

    तेलंगाना सरकार ने कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक बढ़ाया लॉकडाउन

    हैदराबाद। कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के लिए तेलंगाना सरकार ने प्रदेश के कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है। वहीं, जो क्षेत्र कंटेनमेंट जोन में नहीं आते वहां भी 7 जून तक लॉकडाउन रहेगा। राज्य के लोग अपने निजी वाहन से एक से दूसरे राज्यों में बिना किसी रोक टोक के यात्रा कर सकेंगे। रात 9 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक अभी भी लॉकडाउन जारी रहेगा। राज्य सरकार ने केंद्र की गाइडलाइन के बाद यह फैसला लिया है। 

  • Careers31, May 2020, 12:48 PM

    एक दो नहीं चार बार फेल होकर IAS बना ये शख्स, किस्मत पलटी तो एक साथ लगी थीं दो-दो नौकरी

    नई दिल्ली. देशभर में लाखों स्टूडेंट्स अफसर बनने या सरकारी नौकरी का सपना देखते हैं। घर की जिम्मेदारी और एक अच्छी जिंदगी के लिए हर दूसरा शख्स सरकारी नौकरी चाहता है। इसके लिए लड़के-लड़कियां दिन-रात फॉर्म भरते हैं पढ़ाई करते हैं। ऐसे ही गांवों में बच्चे सरकारी नौकरी करने के लिए तैयारी करते हैं। पर तेलांगना के नागरकुर्नूल जिले के एक छोटे से गांव थुम्मनपेट के शाहिद ने बचपन से ही ठान लिया कि वो बड़ा होकर अफसर बनेगा। शाहिद उन कैंडिडेट्स में से हैं जो बहुत कम उम्र में ही अपनी राह चुन लेते हैं। शाहिद ने बचपन से ही आईएएस अधिकारी बनने का सपना देखा और समय आने पर पूरे जोर-शोर से तैयारियों में जुट गये। किस्मत ने उनकी खूब परीक्षा ली और वो एक दो नहीं बल्कि चार बार यूपीएससी में फेल होते गए। पर शाहिद ने हौसला नहीं खोया और एक बार में दो-दौ नौकरियों पर कब्जा जमाया। उनके माता-पिता भी गर्व से फूले नहीं समाए।  

     

    आईएएस सक्सेज स्टोरी (IAS Success Story)  में हम मोहम्मद अब्दुल शाहिद के संघर्ष और सक्सेज टिप्स के बारे में बताएंगे-  

  • Fake Checker30, May 2020, 3:05 PM

    लॉकडाउन में नकली नोट छाप रहे थे लोग, पकड़ा गया करोड़ों का माल, जानें आखिर क्या है सच?

    नई दिल्ली.  सोशल मीडिया पर एक तस्वीर जमकर वायरल हो रही है, जिसमें भारी मात्रा में 2000 के नोटों की गड्डियां और उनके साथ कुछ पुलिसकर्मी दिख रहे हैं। इस तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि लॉकडाउन के बीच गुजरात के सूरत में नकली नोट की छपाई हो रही थी। लोग तस्वीरें शेयर करके सरकार पर सवाल उठा रहे हैं।

     

    फैक्ट चेकिंग में आइए जानते हैं आखिर इन नकली नोटों का सच क्या है?

  • Video Icon

    Hatke30, May 2020, 11:51 AM

    तेंदुए ने हवा में उछलकर एक शख्स पर किया अटैक, कैमरे में कैद हुआ शॉकिंग वीडियो

    सोशल मीडिया पर तेलंगाना  का एक वीडियो तेजी से वायरल  हो रहा है।  एक तेंदुआ खेत में आ गया था, जब टीम उसे पकड़ने गई तो लोगों के हाथों में लाठियां देखकर वो गुस्सा गया और शख्स पर हमला कर  दिया। वीडियो में देखा जा सकता है कि खेत में लोग तेंदुए को पकड़ने के लिए पहुंचे थे।

  • <p><meta charset="utf-8" /><b id="docs-internal-guid-ba7adefc-7fff-40dc-353b-b7bacec2c0c3">A 3-year-old child fell into a 120-fit deep dry borewell, pulled out after 10 hours of hard work, died due to lack of oxygen</b></p>

    National28, May 2020, 10:37 AM

    120 फिट गहरे सूखे बोरवेल में गिरा 3 साल का बच्चा, 10 घंटे की मशक्कत के बाद निकाला, ऑक्सीजन न मिलने से....

    हैदराबाद। तेलंगाना में बुधवार को सुबह 4 बजे एक तीन साल का बच्चा 120 फिट गहरे बोरवेल में गिर गया। रेस्क्यू टीम की 10 घंटे की मशक्कत के बाद जब उसे बाहर निकाला तो देखा कि बच्चे की सांस घुटने के कारण मौत हो चुकी है। यह घटना तेलंगाना के मेडाक जिले की है। यहां एक तीन साल का बच्चा अपने दादा और पिता के साथ खेत पर गया था। तेलंगाना पुलिस के मुताबिक बच्चा बोरवेल के पास खेल रहा था और वह फिसल कर उसमें गिर गया। जैसे ही उसके पिता को बच्चा नहीं दिखा तो उन्होंने उसे खोजना शुरू किया। थोड़ी देर बाद उन्हें पता चला कि बच्चा बोरवेल में गिर गया है। मौके पर नेशनल डिजास्टर रिस्पोन्स टीम भी पहुंच गई और लगातार 10 घंटे की मशक्कत के बाद बच्चे को बाहर निकाला गया। बाहर निकलने के बाद देखा तो बच्चे का दम घुट चुका था। पुलिस ने बताया कि बच्चा जैसे ही बोरवेल में गिरा उसके बाद उसके ऊपर मिट्टी गिर जाने के कारण उस तक पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच रही थी जिसकी वजह से उसका दम घुट गया। मेडाक जिले के एसपी चंदना दीप्ती ने बताया कि परिजनों की जानकारी के बाद नेशनल डिजास्टर रिस्पोंस की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी लेकिन बच्चे को बाहर निकालने से कुछ घंटे पहले ही उसकी मौत हुई है। बच्चे के परिजनों ने पानी की तलाश में खेत में 3 बोर कराए थे लेकिन तीनों सूखे थे। बच्चे के गिरने के बाद बोर से मिट्टी उस पर गिर गई जिससे बच्चे तक पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रही थी और उसका दम घुटने से मौत हो गई। बच्चे को परिजनों को सौंप दिया है।