Asianet News HindiAsianet News Hindi

सड़क पर सोना-ठेले वालों से मांगकर खाना, ये कोई आम महिला नहीं बल्कि 10 साल सीएम रहे शख्स की साली है

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इरा बसु ने वायरोलॉजी में पीएचडी की है। वे अंग्रेजी और बंगाली दोनों भाषाओं में बोल सकती हैं। इतना ही नहीं, वे राज्य स्तर की एथलीट रही हैं।

Former bengal CM buddhadeb bhattacharjee sister-in-law found walking on footpath
Author
Kolkata, First Published Sep 10, 2021, 7:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली इरा बसु की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। उनकी जिंदगी एक भिखारी जैसी है। वे सड़कों पर घूमती हुई दिखीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फुटफाथ पर सोती हैं। रेहड़ी-पटरी वालों से खाना मांगकर खाती हैं। बता दें कि बुद्धदेव भट्टाचार्य ने 10 साल तक पश्चिम बंगाल में सरकार चलाई।  

वायरोलॉजी में पीएचडी, फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती हैं
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इरा बसु ने वायरोलॉजी में पीएचडी की है। वे अंग्रेजी और बंगाली दोनों भाषाओं में बोल सकती हैं। इतना ही नहीं, वे राज्य स्तर की एथलीट थीं और टेबल टेनिस और क्रिकेट खेलती थीं।

दो साल से फुटपाथ पर रह रही हैं
इरा बसु दो साल से फुटपाथ पर रह रही हैं। इससे पहले ये उत्तर 24 परगना जिले के प्रियनाथ गर्ल्स हाई स्कूल में जीवन विज्ञान की टीचर थी। ये पहली बार साल 1976 में प्रियनाथ गर्ल्स हाई स्कूल में जीवन विज्ञान की टीचर बनीं। इसके बाद साल  2009 को रिटायर हो गईं। तब बुद्धदेव भट्टाचार्य पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री थे।

रिटायरमेंट के वक्त ये बारानगर में रहती थी। बाद में पश्चिम बंगाल के खरदाह के लिचु बागान में चली गईं। लेकिन कुछ ही समय बाद वे अचानक इस पते से गायब हो गई। तब से वह कोलकाता से ज्यादा दूर नहीं गईं। अब डनलप की सड़कों पर घूमती हुईं नजर आईं। प्रियनाथ स्कूल की प्रिंसिपल कृष्णकली चंदा ने कहा, इरा बसु यहां पढ़ाती थीं। रिटायरमेंट के बाद उन्होंने पेंशन के लिए कहा। हमने सारे डॉक्युमेंट्स जमा करने के लिए कहा। लेकिन उन्होंने डॉक्युमेंट्स जमा नहीं किए। उन्हें पेंशन नहीं मिलती है। 

इरा बसु ने कहा- मुझे VIP व्यवस्था नहीं चाहिए 
इस साल 5 सितंबर को टीचर्स डे पर एक संस्था ने इरा बसु को बुलाया था। माल्यार्पण कर स्वागत किया और मिठाई खिलाई थी। तब उन्होंने कहा था, सभी टीचर्स अभी भी मुझसे प्यार करते हैं। कई स्टूडेंट मुझे याद करते हैं। जब मैंने टीचर थी, तब भी कोई लाभ नहीं लेना चाहती थी। मैंने जो कुछ भी किया अपने दम पर किया। मुजे कोई VIP पहचान नहीं चाहिए। इरा बसु की खबर सामने आने के बाद प्रशासन एक्टिव हो गया। एंबुलेंस भेजकर उन्हें बुलाया। फिर कोलकाता के हॉस्पिटल में भर्ती कराया। वहीं पर उनकी देखभाल की जा रही है। 

ये भी पढ़ें- 

डस्ट लेडी से लेकर जिंदा जलने वाले इंसान तक, 9/11 अटैक के 9 Survivors से जानें उस दिन की खौफनाक कहानी

Corona से भी ज्यादा खतरनाक है Nipah virus, क्या अभी तक इसकी कोई दवा बनी है?

पेट में दर्द होने पर डॉक्टर के पास गई महिला, फिर ऐसा क्या हुआ कि 11 दिन में दोनों पैर-एक हाथ काटना पड़ा

जो बच्ची डांस कर रही थी, 24 घंटे बाद उसे लेकर डॉक्टर ने किया ऐसा खुलासा कि वह अब चल भी नहीं पा रही

9/11 America Attack Photos: 7 दिन तक जलते रहे टावर्स, ऐसा धुंआ था कि लोगों को हुआ कैंसर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios