Asianet News Hindi

कुंडली में कमजोर है चंद्रमा तो हो सकते हैं डिप्रेशन का शिकार, परेशानियों से बचने के लिए करें ये उपाय

आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हर कोई व्यक्ति तनाव में जी रहा है। कभी परिवार के लेकर तनाव हो जाता है तो कभी नौकरी और व्यापार को लेकर। जिन लोगों की जन्म कुंडली में चंद्रमा कमजोर होता है, वे लोग जल्दी ही तनाव में आ जाते हैं और कोई गलत कदम उठा लेते हैं।

If moon is weak in the horoscope, it can cause depression, take these measures to avoid problems KPI
Author
Ujjain, First Published Mar 12, 2021, 11:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. तनाव की  स्थिति से बचने के लिए एक ज्योतिषीय उपाय बहुत कारगर साबित हो सकता है। यह है चंद्र यंत्र की स्थापना या चंद्र यंत्र धारण करना।

चंद्र का असर मन पर पड़ता है

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, नवग्रहों में चंद्र सबसे अधिक गति से चलने वाला ग्रह है। यह प्रत्येक सवा दो दिन में अपनी राशि बदल लेता है। चंद्र का मनुष्य के मन और मस्तिष्क पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए जन्म कुंडली में इसका महत्वपूर्ण स्थान है। यह मन का कारक होता है। इसलिए यह मनुष्य की भावनाओं के साथ मस्तिष्क, बुद्धिमता, स्वभाव, रोगों, गर्भाशय इत्यादि को नियंत्रित करता है। अगर कुंडली में चंद्र कमजोर हो तो इस प्रकार की समस्याओं का सामुना करना पड़ता है।

चंद्र यंत्र के लाभ

यदि आप आत्मविश्वास की कमी या डिप्रेशन के शिकार हैं तो आपको सिद्ध किया गया चंद्र यंत्र बहुत लाभ देता है। इस चंद्र यंत्र को गले में पेंडेंट के रूप में भी धारण किया जा सकता है या पूजा स्थान में यंत्र के रूप में स्थापित किया जा सकता है। चंद्र यंत्र का नियमित पूजन बहुत लाभ देता है।

चंद्र यंत्र के अन्य फायदे
 

1. चंद्र यंत्र की विधिवत पूजा कर स्थापना करने से मन को शांति मिलती है और मानसिक स्वास्थ मजबूत रहता है।
2. चंद्र यंत्र के माध्यम से चंद्र को मजबूत करके डिप्रेशन, तनाव, मानसिक बीमारियों से काफी हद तक बचा जा सकता है।
3. यह माता से आपके संबंध सुधारता है।
4. कमजोर चंद्र के कारण सर्दी-जुकाम, खांसी, फेफड़े और श्वसन संबंधी रोग होते हैं। चंद्र यंत्र धारण करके इन रोगों से बचा जा सकता है।
5. चंद्र यंत्र समुद्र पारीय देशों से व्यापार करने वालों को लाभ देता है।
6. जो विद्यार्थी विदेशों में पढ़ाई या जॉब का सपना देखते हैं उन्हें भी यह जरूर धारण करना चाहिए।

कैसे करें स्थापना?

किसी भी शुभ मुहूर्त में घर के पूजा स्थान पर चंद्र यंत्र की स्थापना करें। इसके आगे धूप और दीप जलाएं। अब अपने ईष्ट देव के साथ-साथ चंद्रमा की भी आराधना करें और उनसे अपने और अपने परिवार पर कृपा बरसाने की प्रार्थना करें। गंगाजल छिड़क कर घी का दीया जलाएं। यदि पेंडेंट के रूप में चंद्र यंत्र धारण कर रहे हैं तो किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के सोमवार के दिन चांदी की चेन में इसे पहनें।

ज्योतिषीय उपायों के बारे में ये भी पढ़ें

बहुत खास होता है पारस पीपल, धन लाभ और शीघ्र विवाह के लिए करें ये आसान उपाय

2021 की पहली शनिश्चरी अमावस्या 13 मार्च को, शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय

सफलता के लिए 9 मार्च को इस विधि से करें विजया एकादशी व्रत और उपाय

गर्भस्थ शिशु के हर माह का एक अधिपति ग्रह होता है, उसके मंत्र जाप और पूजा से मिलता है शुभ फल

बहुत दुर्लभ होता है ये शंख, इसकी पूजा से दूर होते हैं शनि दोष और घर में बनी रहती है सुख-समृद्धि

इन 4 ग्रहों के कारण होते हैं त्वचा से संबंधित रोग, कर सकते हैं ये आसान उपाय

किसी खास काम के लिए जाते समय ध्यान रखें ये 8 बातें, बढ़ जाती है सफलता मिलने की संभावना

शनि, राहु और केतु दे रहे हैं अशुभ फल तो एक ही रत्न पहनने से दूर हो सकते हैं इनका प्रभाव

केले के वृक्ष की पूजा करने और जल चढ़ाने से दूर हो सकती हैं आपकी अनेक परेशानियां

परंपरा: घर में पीतल के बर्तन रखना होता है शुभ, पूजा में होता है इसी धातु के पात्रों का उपयोग

विवाह में बार-बार आ रही हैं परेशानी तो ये हो सकते हैं कारण, जानिए उपाय

आटे के दीपक होते हैं बहुत खास, किसी खास मनोकामना और तंत्र उपायों में होता है इनका उपयोग

ज्योतिष में भी है चंदन का खास महत्व, इसके आसान उपाय दूर कर सकते हैं आपकी परेशानियां

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios