Asianet News HindiAsianet News Hindi

Sawan में महिलाओं को करना चाहिए ये 6 काम, इससे मिलता है अखंड सौभाग्य और घर में रहती है खुशहाली

सावन (Sawan) मास भगवान शिव (Shiva) के साथ-साथ देवी पार्वती (Devi Parvati) की आराधना का समय है। इस माह में माता पार्वती और महादेव का पूजन करने से भक्तों की हर मनोकामना पूरी हो सकती है। धर्म ग्रंथों में इस मास को श्रावण कहा गया है जिसका अर्थ है धर्म प्रवचन सुनने वाला महीना। यानी इस मास में भगवान के चरित्र का वर्णन सुनने का विशेष फल मिलता है। इसलिए इस एक मास में भगवान शिव की कथाएं की जाती हैं।

Sawan women should do these 6 things for good luck and home prosperity
Author
Ujjain, First Published Aug 2, 2021, 10:40 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. मान्यता है कि यदि विवाहित महिलाएं सावन (Sawan) मास में रोज 6 विशेष काम करें तो माता पार्वती अत्यंत प्रसन्न होती हैं और महिलाओं को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। आगे जानिए उन 6 कामों के बारे में…

1. हर रोज सुबह स्नान के बाद शिवलिंग पर जल चढ़ाएं। सावन में इस नियम का पालन करने से महादेव और मां पार्वती दोनों की कृपा प्राप्त होती है। ये काम महिलाओं के अलावा पुरुष भी कर सकते हैं।
2. चूड़ियों को श्रंगार का अहम हिस्सा माना जाता है। सावन (Sawan) का महीना हरियाली से भरा होता है, ऐसे में इस महीने में महिलाओं को हरे रंग की चूड़ियां पहननी चाहिए। इससे मां गौरी अत्यंत प्रसन्न होती हैं।
3. सावन (Sawan) में महिलाओं को सुहाग का सामान माता पर चढ़ाना चाहिए और दान भी करना चाहिए। इससे माता प्रसन्न होती हैं और अखंड सौभाग्य प्रदान करने के साथ पति की दीर्घायु का आशीर्वाद देती हैं।
4. सावन (Sawan) में मेहंदी लगाना भी बहुत शुभ माना जाता है। मेहंदी सुहाग की निशानी होती है। इसलिए इस माह में एक बार मेहंदी जरूर लगवाएं। हरियाली तीज पर मेहंदी लगाने का विशेष महत्व है।
5. महादेव को भोलेनाथ भी कहा जाता है, क्योंकि वे बहुत शीघ्र प्रसन्न होते हैं। वहीं सावन के महीने में उन्हें प्रसन्न करना और भी आसान होता है। महादेव की प्रसन्नता देखकर माता गौरी भी अत्यंत आनंदित होती हैं। इसलिए सावन में महिलाओं को महादेव के भजन गाने चाहिए, इससे उन्हें शिव और गौरी दोनों की कृपा प्राप्त होती है।
6. सावन (Sawan) में किसी भी तरह के वाद विवाद से बचना चाहिए। ये महीना आनंद का महीना होता है। इसमें महादेव और माता का ध्यान करना चाहिए यदि क्रोध आए तो ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करें। इससे गुस्सा शांत हो जाएगा।

सावन मास के बारे में ये भी पढ़ें

Sawan का दूसरा सोमवार आज, इस दिन भगवान शिव को चढ़ाएं ये खास चीजें, मिलेगा मनचाहा वरदान

Sawan में धारण करें ये खास रुद्राक्ष, दूर हो सकती हैं वैवाहिक जीवन की समस्याएं व अन्य परेशानियां

Sawan: मिट्‌टी के शिवलिंग की पूजा से मिलता है धन-धान्य, दूर होते हैं मानसिक और शारीरिक कष्ट

Sawan: रतलाम के इस शिव मंदिर को कहा जाता है 13वां ज्योतिर्लिंग, इस मंदिर की बनावट भी है खास

Sawan: किस स्थान पर बैठकर तथा किस दिन की गई शिव पूजा से क्या फल मिलता है?

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios