हिंदू युवा वाहिनी के कार्यालय के बाहर घूम रहे 3 संदिग्ध युवक, जिलाध्यक्ष बोले- हमला करने आए थे बांग्लादेशी

| Dec 06 2022, 06:56 PM IST

हिंदू युवा वाहिनी के कार्यालय के बाहर घूम रहे 3 संदिग्ध युवक, जिलाध्यक्ष बोले- हमला करने आए थे बांग्लादेशी
हिंदू युवा वाहिनी के कार्यालय के बाहर घूम रहे 3 संदिग्ध युवक, जिलाध्यक्ष बोले- हमला करने आए थे बांग्लादेशी
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

यूपी के जिला गाजियाबाद में हिंदू युवा वाहिनी के कार्यालय के बाहर घूम रहे तीन संदिग्ध युवकों को पुलिस ने हिरासत में लिया लेकिन पूछताछ के बाद तीनों को छोड़ दिया। उन्होंने पुलिस को बताया कि वह पश्चिम बंगाल से आई एक जमात के सदस्य हैं।

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में हिंदू युवा वाहिनी जिलाध्यक्ष के कार्यालय के बाहर घूम रहे तीन संदिग्ध मुस्लिम युवकों को पुलिस ने पकड़ लिया है। जिसके बाद जिलाध्यक्ष का कहना था कि यह तीनों बांग्लादेशी हैं और उन पर हमला करने के इरादे से आए थे। जब उनका कार्यकर्ताओं ने पीछा किया तो वह एक मस्जिद में घुस गए फिर वहां से पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने जब पूछताछ की तो पता चला कि तीनों युवक पश्चिम बंगाल से आई एक जमात के सदस्य हैं। अभी तक उनकी कोई संदिग्ध गतिविधि पुलिस को नहीं मिली है। इस वजह से तीनों को छोड़ दिया गया है।

युवकों ने कार्यकर्ताओं से पूछे कई सवाल
हिंदू युवा वाहिनी जिलाध्यक्ष आयुष काकड़ा के अनुसार सोमवार की देर रात करीब आठ बजे के कार्यक्रमों से आकर कस्बा मुरादनगर स्थ्ति कार्यालय पर बैठे थे। उसके दो मिनट बाद ही तीनों संदिग्ध व्यक्ति कार्यालय के बाहर घूमने लगे। इतना ही नहीं उन्होंने अंदर घुसने का प्रयास भी किया लेकिन दो कार्यकर्ता बाहर निकले और उनके बाहर घूमने का कारण पूछा। तो युवकों ने कार्यालय का शटर जल्दी बंद होने के साथ-साथ जावेद के कारखाने के बारे में पूछा। उन्होंने आगे बताया कि जिस पर कार्यकर्ताओं ने नहीं पता होने की बात बोलकर मना कर दिया।

Subscribe to get breaking news alerts

कुल 7 लोग अलग-अलग मस्जिदों में है रुके
आयुष काकड़ा का कहना यह भी है कि कार्यकर्ताओं के पीछा करने पर वे तीनों संदिग्ध लोग पास की एक मस्जिद में घुस गए। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मस्जिद से आकर उन्हें कस्टडी में ले लिया। इससे साफ जाहिर है कि आयुष का सीधे तौर पर कहना है कि तीनों संदिग्ध लोग उन पर हमला करने के उद्देश्य से यहां पर आए थे क्योंकि उनको पहले भी धमकी मिल चुकी है। इस पूरे प्रकरण को लेकर मुरादनगर थाना प्रभारी सतीश कुमार का कहना है कि तीनों युवकों को पुलिस ने एलआईयू और इंटेलिजेंस ब्यूरों की टीमों ने लंबी पूछताछ की है। जिसमें पता चला है कि पश्चिम बंगाल से जमात में आए हुए है। उन्होंने आगे बताया कि कुल सात लोग है, जो अलग-अलग मस्जिदों में रुके हुए हैं।

लखीमपुर हिंसा में आशीष मिश्रा समेत 14 आरोपियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज, 4 किसानों समेत 8 लोगों की हुई थी मौत

40वीं शादी की साल गिरह मनाने के लिए आगरा पहुंचा इटली का जोड़ा, ढोल-नगाड़े समेत ताजमहल के साए में लिए 7 फेरे

CM योगी ने यूपी विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में बताई अनुपूरक बजट लाने की वजह, जानिए क्या है खास

देवरिया में नाले के किनारे नवविवाहिता का शव देख ग्रामीण हुए हैरान, परिजन की बात सुन पुलिस भी रह गई दंग

डेढ़ साल का बकरा देता है आधा लीटर दूध, दूर-दराज से देखने के लिए आ रहे हैं लोग, मालिक बोला- 1 करोड़ है कीमत