Asianet News HindiAsianet News Hindi

साल के आखिरी सूर्य ग्रहण और सोमवती अमावस्या पर बन रहा विशेष संयोग, इस दिन करें ये खास काम

Dec 11, 2020, 2:26 PM IST

वीडियो डेस्क। 14 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण है। इस दिन सोमवती अमावस्या होने से विशेष संयोग बन रहा है। यह तिथि भगवान शिव को समर्पित मानी जाती है। इसलिए इस दिन शिवजी की पूजा विशेष रूप से करने का विधान है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, सोमवती अमावस्या के शुभ योग में ये 5 काम जरूर करना चाहिए। इससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है…

1. सोमवती अमावस्या के शुभ योग में किसी पवित्र नदी में स्नान कर पितरों के निमित्त जलदान और तर्पण आदि करना चाहिए। इससे पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। साथ ही पितृदोष की शांति के लिए बरगद, तुलसी पीपल और आम के पौधे घर में लगाने का विधान है। 
2. सोमवती अमावस्या पर दान करने का विशेष महत्व हमारे धर्म ग्रंथों में बताया गया है। इस दिन कंबल, घी, खाने का सामान जैसी जरूरी चीजें गरीबों का दान करनी चाहिए।
3. सोमवार भगवान शिव का दिन है। इसलिए सोमवती अमावस्या पर शिवजी की पूजा विशेष रूप से करनी चाहिए। इससे सभी देवताओं का पूजन हो जाता है और घर में सुख-समृद्धि का वास रहता है।
4. सोमवती अमावस्या पर पीपल के पेड़ की 7 परिक्रमा कर जल चढ़ाने से हर समस्या का समाधान हो सकता है। क्योंकि पीपल में सभी देवताओं का वास माना जाता है।
5. अमवस्या तिथि पर गाय को हरा चारा, मछलियों को आटे की गोली और चींटियों के लिए शक्कर मिश्रित आटा डालना चाहिए। 
 

Video Top Stories