Life Management: एक वृद्ध लोगों को पेड़ पर चढ़ना सीखाता था, उसने अपने छात्रों की परीक्षा ली और बताई सबसे खास बात

| Jan 17 2022, 12:36 PM IST

Life Management: एक वृद्ध लोगों को पेड़ पर चढ़ना सीखाता था, उसने अपने छात्रों की परीक्षा ली और बताई सबसे खास बात
Life Management: एक वृद्ध लोगों को पेड़ पर चढ़ना सीखाता था, उसने अपने छात्रों की परीक्षा ली और बताई सबसे खास बात
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

हमारे जीवन में ऐसा कई बार होता है कि किसी काम को पूरा करने के कगार पर होकर भी हम उसे पूरा नहीं कर पाते। अंतिम क्षणों में कुछ गड़बड़ हो जाती है और हम पछताते रह जाते हैं। अंतिम क्षणों की ज़रा सी असावधानी से हमारा पूरा काम बिगड़ देती है।

उज्जैन. कई बार सफलता के नजदीक पहुंचकर भी हम उसे पाने में असफल हो जाते हैं, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मंजिल के करीब पहुँचकर हम अपना धैर्य खो देते हैं। Asianetnews Hindi Life Management सीरीज चला रहा है। इस सीरीज के अंतर्गत आज हम आपको ऐसा प्रसंग बता रहे हैं जिसका सार यही है जब तक हम अपना लक्ष्य प्राप्त न कर लें, तब तक हमें धैर्य और संयम नहीं खोना चाहिए।

पेड़ों पर चढ़ना सीखाने वाले बाबा ने दिया जीवन का मूल मंत्र
जंगल के किनारे एक छोटा सा गाँव था। वहां एक आदमी रहता था, जो लोगों को पेड़ पर चढ़ने का प्रशिक्षण देता था। लोग उन्हें प्यार से बाबा बुलाते थे। एक दिन बाबा ने युवकों के समूह को बुलाया, जिन्हें वे पेड़ पर चढ़ने का प्रशिक्षण दे रहे थे। 
वह उस समूह के प्रशिक्षण का अंतिम दिन था। बाबा उन्हें एक पेड़ के पास लेकर गए. वह एक ऊँचा और चिकना पेड़ था, जिस पर चढ़ना बेहद कठिन था।
बाबा युवकों से बोले, “आज तुम्हारे प्रशिक्षण का अंतिम दिन है, मैं देखना चाहता हूँ कि क्या तुम लोग पेड़ पर चढ़ने में माहिर हो गए हो, इसलिए मैं तुम्हें इस चिकने और ऊँचे पेड़ पर चढ़ने की चुनौती दे रहा हूं। यदि तुम सब इस पेड़ पर चढ़ने में सफ़ल रहते हो, तो दुनिया के किसी भी पेड़ पर आसामी से चढ़ सकते हो।”
बाबा की बात सुनकर सभी उत्त्साहित हो गये। वे पेड़ पर चढ़ने के लिए एक पंक्ति में खड़े हो गए। सबसे पहला युवक पेड़ पर चढ़ने लगा. वह बड़ी ही आसानी से पेड़ पर चढ़ा और फिर नीचे उतरने लगा। उतरते समय जब वह आधे रास्ते में था, तब बाबा बोले, “सावधान…आराम से संभलकर उतरो। कोई जल्दी नहीं है।”
उस युवक ने वैसा ही किया। वह आराम से सावधानी से नीचे उतरा। उसके बाद एक-एक कर सारे युवक पेड़ पर चढ़ने लगे। जब वे पेड़ पर चढ़ते, तब तो बाबा उन्हें कुछ नहीं कहते, लेकिन जब वे पेड़ से उतरते समय आधे रास्ते पर होते या बस नीचे पहुँचने वाले होते, तो बाबा कहते, “सुनो, आराम से, थोड़ा संभलकर और पूरी सावधानी से उतरो। किसी प्रकार की कोई जल्दी नहीं है।”
सब बड़े ख़ुश थे, लेकिन एक बात उन्हें खटक रही थी और वह यह थी कि बाबा ने उन्हें पेड़ से उतरते समय ही सावधान रहने को क्यों कहा। पेड़ पर चढ़ते समय क्यों नहीं?
उन्होंने बाबा से पूछ ही लिया, “बाबा आपने पेड़ पर चढ़ते समय हमें संभलकर रहने नहीं कहा. लेकिन उतरते समय जब जमीन तक की दूरी बहुत कम रह गई थी, तब आपने हमें संभलकर और सावधान रहने को कहा, ऐसा क्यों?”
बाबा बोले, “देखो, पेड़ की सबसे ऊपरी शाखा पर चढ़ना बहुत कठिन है, ये मैं भी जानता हूँ और तुम भी। इसलिए मेरे बिना बोले ही तुम पहले से ही सतर्क थे। ऐसा हर किसी के साथ होता है। किंतु सतर्कता और सावधानी में चूक तब होती है, जब हम मंजिल के समीप होते हैं। वहाँ हमारा ध्यान भटक जाता है और हम गलती कर जाते हैं।
युवकों को बाबा की इस बात से जीवन की एक बहुत बड़ी सीख प्राप्त हुई।

लाइफ मैनेजमेंट
कई बार धैर्य खो देने के कारण हमसे चूक हो जाती है, इसलिए जब तक मंजिल तक न पहुँचे, धैर्य बनाकर रखें। कार्य के प्रारंभ में जितना धैर्य और सावधानी आवश्यक है, कार्य समाप्ति तक भी आवश्यक है। 

 

Subscribe to get breaking news alerts

ये खबरें भी पढ़ें...

Life Management: प्रोफेसर ने स्टूडेंट के लिए शिंकजी बनाई, उसमें जानबूझकर नमक ज्यादा डाल दिया…फिर समझाई ये बात

Life Management: साधु ने युवक को 2 चीज दी जिससे वो सफल व्यापारी बन गया…जानिए क्या थीं वो 2 चीजें?

Life Management: राजा ने अंजाने में ब्राह्मणों को जहरीला खाना खिला दिया, सभी मर गए…यमराज ने किसे दी इसकी सजा?

Life Management: पत्नी ने पति को खाने के लिए जली हुई रोटियां दे दी, जैसे ही पति ने देखा तो…फिर क्या हुआ?

Life Management: पागल से डरकर एक आदमी भागा, लेकिन रास्ता बंद होने से वो फंस गया…इसके बाद पागल ने क्या किया?

Life Management: गुस्सैल युवक को पिता ने दिया एक काम, इसके बाद कम होने लगा उसका गुस्सा, कौन-सा था वो काम?

Life Management: पानी में मेंढक को डालकर जब बर्तन स्टोव पर रखा गया तो इसके बाद क्या हुआ, क्या वो बाहर कूदा?

Life Management: किसान और कुत्ता घर पहुंचे, संत ने पूछा “कुत्ता हांफ क्यों रहा है?” किसान ये दिया ये जवाब

Life Management: आश्रम से सामान उठाकर चोर जाने लगा तो संत की नींद खुल गई…संत ने चोर को सामने देख क्या किया?