Asianet News HindiAsianet News Hindi

Mahakal Corridor Ujjain: अब इस ‘खास’ नाम से जाना जाएगा महाकाल कॉरिडोर प्रोजेक्ट

मध्य प्रदेश के उज्जैन में बन रहे महाकाल कॉरिडोर का नाम अब ‘श्रीमहाकाल लोक’ होगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ये फैसला प्रदेश की कैबिनेट बैठक में लिया। साथ ही उज्जैन के विकास को लेकर और भी कई निर्णय लिए।
 

Mahakal Corridor Project Mahakal Temple Prime Minister Narendra Modi News MMA
Author
First Published Sep 27, 2022, 5:22 PM IST

उज्जैन. उज्जैन में बन रहे महाकाल कॉरिडोर के लोकार्पण को लेकर शिवराज सरकार (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan)  ने तैयारियां तेज कर दी हैं। सरकार इस बात को लेकर कितनी गंभीर है इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मंगलवार को उज्जैन में ही कैबिनेट की बैठक हुई। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। सीएम चौहान ने महाकाल कॉरिडोर प्रोजेक्ट का नाम बदलकर ‘श्रीमहाकाल लोक’ कर दिया है। 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) इस प्रोजेक्ट का लोकार्पण करने उज्जैन आएंगे। 

क्यूआर कोड स्केन करते ही मिल जाएगी हर जानकारी
ये प्रोजेक्ट महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर के विस्तार को लेकर बनाया गया है। ये प्रोजेक्ट 20 हेक्टेयर में आकार ले रहा है जबकि काशी विश्वनाथ कॉरिडोर मात्र 5 हेक्टेयर में ही फैला है। यानी श्रीमहाकाल लोक प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर से 4 गुना अधिक रहेगा। इस प्रोजेक्ट में महाकाल मंदिर का विस्तार कर यहां लगभग 200 मूर्तियां और म्यूरल्स (भित्त चित्र) बनाए गए हैं, जो देखने में बहुत ही आकर्षक हैं। इन मूर्तियों पर क्यूआर कोड लगाया गया है जिसे स्केन करते ही उसके बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

पहले चरण में खर्च होंगे 793 करोड़
श्रीमहाकाल लोक प्रोजेक्ट के पहले चरण में 793 करोड़ खर्च किए गए हैं। इसमें से 421 करोड़ मध्य प्रदेश सरकार ने खर्च किए हैं। केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए 271 करोड़ दिए हैं, वहीं फ्रांस गर्वमेंट ने भी इस प्रोजेक्ट के लिए 80 करोड़ रुपए दिए हैं। शेष राशि मंदिर समिति दे रहे हैं। इस प्रोजेक्ट में देश का पहला नाइट गार्डन भी बनाया जाएगा। 

लोकार्पण पर दीपावली जैसा होगा माहौल
श्रीमहाकाल वन प्रोजेक्ट के लोकार्पण अवसर पर उज्जैन में दिवाली जैसा माहौल रहेगा। हर गली और चौराहों को सजाया जाएगा। आतिशबाजी होगी। लेजर शो के कार्यक्रम होंगे। करीब 5 लाख घरों तक प्रसाद के साथ पुस्तिक पहुंचेगी। लोकार्पण अवसर पर 5 अक्टूबर से गतिविधियां आरंभ होंगी, जो 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा महाकाल प्रोजेक्ट के लोकार्पण के साथ पूर्ण होंगी।


ये भी पढ़ें-

Navratri Upay: नवरात्रि में घर लाएं ये 5 चीजें, घर में बनी रहेगी सुख-शांति और समृद्धि

Navratri 2022: नवरात्रि में प्रॉपर्टी व वाहन खरीदी के लिए ये 6 दिन रहेंगे खास, जानें कब, कौन-सा योग बनेगा?

RamSetu: रामसेतु को बनाने वाले असली इंजीनियर्स कौन थे, किसने डिजाइन किया था पुल?
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios