Asianet News HindiAsianet News Hindi

बिल्व पत्र अर्पित करने से प्रसन्न होते हैं महादेव, इसे चढ़ाते समय रखें इन बातों का ध्यान

महादेव की पूजा में बिल्व पत्र (बेलपत्र) सबसे ज्यादा महत्व रखता है। मान्यता है कि भगवान शंकर को बिल्व पत्र अधिक प्रिय है। मान्यता है कि ऐसा करने से भगवान शिव जल्द प्रसन्न होकर अपने भक्तों को मनचाहा वरदान देते हैं।

Sawan  know the rules of offering bilva patra to shivji KPI
Author
Ujjain, First Published Jul 29, 2021, 8:41 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. आज हम आपको भगवान शिव की पूजा में इस्तेमाल किए जाने वाले बिल्व पत्र से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें बताएंगे, जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं…

1. भगवान को बिल्व पत्र चढ़ाते समय हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अगर जल धारा के साथ बिल्व पत्र अर्पित किया जाए तो इसका प्रभाव कर्इ गुना बढ़ जाता है।
2. बिल्व पत्र के बारे में कहा जाता है कि इसे शिवलिंग पर चढ़ाने से शिव जी का मस्तक शीतल रहता है, यदि बिल्व पत्र में तीन पत्तियां हों तो वह सर्वोत्तम माना जाता है।
3. इसके अलावा भगवान पर बेलपत्र अर्पित करते समय ध्यान रखें कि यह खराब नहीं होना चाहिए।
4. सोमवार, अष्टमी, चतुर्दशी, अमावस्या, पूर्णिमा और संक्रांति के दिन बेलपत्र नहीं तोड़ना चाहिए।
5. अगर सोमवार को बेलपत्र चढ़ाना हो तो रविवार को ही इसे तोड़कर रख लेना चाहिए।
एक बेलपत्र को कई बार धोकर भी चढ़ा सकते हैं।
6. मान्यताएं है कि जिन घरों में बेलवृक्ष लगा होता हैं वहां शिव की कृपा निरंतर बरसती रहती है।
7. बेलवृक्ष को घर के उत्तर-पश्चिम में लगाने से यश प्राप्ति होती है, वहीं उत्तर-दक्षिण में लगे होने पर भी सुख-शांति और मध्य में लगे होने से घर में धन और खुशियां आती हैं।

सावन मास के बारे में ये भी पढ़ें

सावन में रोज करें पारद शिवलिंग की पूजा, दूर हो सकती है लाइफ की हर परेशानी

सावन में आपकी हर इच्छा हो सकती है पूरी, करें शिवजी के ये आसान उपाय

तमिलनाडु के अन्नामलाई पर्वत पर है महादेव का मंदिर, मान्यता है कि यहीं दिया था शिवजी ने ब्रह्माजी को श्राप

सावन के हर सोमवार को बन रहे हैं खास योग, इस दिन पूजा के साथ खरीदारी भी रहेगी शुभ

सावन में 17 दिन बनेंगे शुभ योग, इसके अलावा शिव पूजा के लिए 8 दिन रहेंगे खास

सावन में राशि अनुसार करें ये आसान उपाय, जीवन में बनी रहेगी सुख-समृद्धि

श्रावण मास में पेड़-पौधे लगाने और दान करने से प्रसन्न होते हैं पितृ और देवता

श्रवण नक्षत्र से बना सावन, स्कंद पुराण से जानिए शुभ फल पाने के लिए इस महीने में क्या करना चाहिए

सावन के पहले दिन करिए उज्जैन के महाकालेश्वर भगवान के अद्भुत श्रृंगारों के दर्शन

सावन स्पेशल: इस मंदिर में शिवजी के अंगूठे की होती है पूजा, दिन में 3 बार रंग बदलता है शिवलिंग

25 जुलाई से शुरू होगा सावन मास, जानिए इस महीने से कौन-से काम करने से बचें व अन्य खास बातें

सावन आज से: भगवान शिव को चढाएं ये 5 खास चीजें, हर परेशानी हो सकती है दूर

सावन मास में इस आसान विधि से रोज करें शिवजी की पूजा, जीवन में बनी रहेगी सुख-समृद्धि

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios