भारत में हो रहे इस वर्ल्ड कप का हिस्सा नहीं बन पाएगी पाकिस्तानी टीम, जानें वजह

| Dec 08 2022, 03:07 PM IST

भारत में हो रहे इस वर्ल्ड कप का हिस्सा नहीं बन पाएगी पाकिस्तानी टीम, जानें वजह

सार

दृष्टिबाधित पाकिस्तान क्रिकेट टीम मौजूदा टी20 विश्व कप में खेलने के लिए भारत नहीं आएगी, क्योंकि खिलाड़ियों को वीजा नहीं मिला है। भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट संघ (सीएबीआई) के अध्यक्ष महंतेश जीके ने इस बारे में जानकारी दी।

स्पोर्ट्स डेस्क : भारत में इस समय ब्लाइंड t20 वर्ल्ड कप (Blind T20 World Cup 2022) खेला जा रहा हैछ। 6 दिसंबर से शुरू हुआ यह टूर्नामेंट 17 दिसंबर तक चलेगा। जिसमें भारत, नेपाल, बांग्लादेश, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, श्रीलंका और पाकिस्तान की टीमों को हिस्सा लेना है। लेकिन पाकिस्तान क्रिकेटरों को भारत आने के लिए वीजा नहीं दिया गया, जिसके चलते वो इस लीग का हिस्सा नहीं बन पाएंगे। भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट संघ के अध्यक्ष महंतेश जीके ने बुधवार को इस खबर की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान की टीम भारत नहीं आ रही है, क्योंकि उन्हें वीजा नहीं मिला है।

34 खिलाड़ी और स्टाफ मेंबर आने वाले थे इंडिया 
बता दें कि भारत में चल रहे ब्लाइंड क्रिकेट विश्व कप 2022 में भाग लेने के लिए पाकिस्तान के 34 खिलाड़ियों और अधिकारी इस लीग में हिस्सा लेने के लिए आ रहे थे। लेकिन पीबीसीसी यानी कि पाकिस्तान ब्लाइंड क्रिकेट काउंसिल ने अपने बयान में स्पष्ट किया कि भारतीय उच्चायोग से पासपोर्ट संग्रह ईमेल मिलने के बाद पाकिस्तान टीम को वीजा जारी नहीं किया गया। बता दें कि गृह मंत्रालय ने पहले पाकिस्तान की दृष्टिबाधित टीम को मंजूरी दे दी थी, लेकिन विदेश मंत्रालय से समय पर वीजा मंजूरी नहीं मिली। जिसके चलते पाकिस्तानी ब्लाइंड क्रिकेट टीम भारत में हो रहे इस टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं बन पाएगी।

Subscribe to get breaking news alerts

ऐसे खेला जाता है ब्लाइंड क्रिकेट 
ब्लाइंड क्रिकेट सामान्य क्रिकेट से काफी अलग होता है। इसके नियम भी अलग है। इसके लिए एक टीम में कम से कम 4 नेत्रहीन खिलाड़ी होने चाहिए और अधिकतम चार खिलाड़ी ऐसे होने चाहिए जिन्हें आंशिक रूप से दिखता हो। इस खेल में गेंद भी थोड़ी बड़ी होती है और उसके अंदर मेटल के घुंगरू डाल दिए जाते हैं। जिसकी आवाज सुनकर बल्लेबाज या फील्डर बॉल की पहचान करते हैं। गेंदबाज को बॉलिंग करने से पहले रेडी बोलना होता है, फिर जब बल्लेबाज रेडी या यस बोलता है, तो वह अपनी गेंद डाल सकता है।

2 बार चैंपियन रहा भारत 
बता दें कि ब्लाइंड t20 वर्ल्ड कप इससे पहले 2 बार 2012 और 2017 में खेला जा चुका है। जिसमें दोनों ही बार भारतीय टीम विजेता रही थी। ऐसे में इस बार भी भारतीय टीम से ऐसी उम्मीद की जा रही है। बता दें कि इस लीग का फाइनल मुकाबला बेंगलुरु में 17 दिसंबर को होगा।

यह भी पढ़ें: World Championship: कलाई की चोट के बावजूद मीराबाई चानू ने उठाया 200 किलो वजन, सिल्वर मेडल जीतक रचा इतिहास

कितनी प्रॉपर्टी के मालिक हैं रविंद्र जडेजा? लग्जरी गाड़ियों से लेकर महंगे बंगले तक का रखते हैं शौक