उज्जैन. बृहस्पति को सौर मंडल का मंत्री और देवताओं का गुरु कहा जाता है। ये ग्रह हर व्यक्ति के जीवन पर व्यापक असर डालता है। ये ग्रह कानून, धर्म, ज्ञान, मंत्र और संस्कारों को नियंत्रित करता है साथ ही आयु की अवधि को निर्धारित करता है। पांच तत्वों में आकाश तत्व का अधिपति होने के कारण इसका प्रभाव बहुत ही व्यापक और विराट होता है। महिलाओं के जीवन में विवाह की सम्पूर्ण जिम्मेदारी बृहस्पति से ही तय होती है। जानिए गुरु जब शुभ या अशुभ होता है तो हमारे जीवन पर क्या असर डालता है…

गुरु अशुभ हो तो…

- बृहस्पति के कमजोर होने से व्यक्ति के संस्कार कमजोर होते हैं। विद्या और धन प्राप्ति में बाधा के साथ-साथ व्यक्ति को बड़ों का सहयोग पाने में मुश्किलें आती हैं।
- पाचन तंत्र कमजोर करने समेत बृहस्पति और भी कई गंभीर समस्याएं देता है। अशुभ बृहस्पति में संतान पक्ष की समस्याए भी परेशान करती हैं।
- व्यक्ति सामान्यतः निम्न कर्म की ओर झुकाव रखता है और बड़ों का सम्मान नहीं करता है।

गुरु शुभ हो तो…

- कुंडली में बृहस्पति के शुभ हो तो व्यक्ति विद्वान और ज्ञानी होता है,अपार मान सम्मान पाता है।
- व्यक्ति के ऊपर दैवीय कृपा होती है और व्यक्ति जीवन में तमाम समस्याओं से बच जाता है। ऐसे लोग आम तौर पर धर्म, कानून या कोष (बैंक) के कार्यों में देखे जाते हैं।
- अगर बृहस्पति केंद्र में हो और पाप प्रभावों से मुक्त हो तो व्यक्ति की जीवन में सभी सुख-सुविधाएं मिलती हैं और उसका जीवन सुखमय होता है।

गुरु से शुभ फल पाने के लिए क्या करें?

1. रोज सुबह पानी हल्दी मिलाकर सूर्य को जल अर्पित करें।
2. शिव जी की यथाशक्ति उपासना करें।
3. महीने में एक दिन शिवजी का पंचामृत अभिषेक करें।
4. बरगद के पेड़ में नियमित रूप से जल अर्पित करें।
5. बड़े बुजुर्गों का सम्मान करें।
6. हर गुरुवार को किसी मंदिर में जरूर जाएं।

कुंडली के योगों के बारे में ये भी पढ़ें

जिसकी कुंडली में होता है इनमें कोई भी 1 योग, वो बन सकता है संन्यासी

कुंडली में कब बनता है समसप्तक योग, कब देता है शुभ और कब अशुभ फल?

ये हैं जन्म कुंडली के 5 अशुभ योग, इनसे जीवन में बनी रहती हैं परेशानियां, बचने के लिए करें ये उपाय

जिस व्यक्ति की कुंडली में होते हैं इन 5 में से कोई भी 1 योग, वो होता है किस्मत का धनी

लाइफ की परेशानियां बढ़ाता है गुरु चांडाल योग, जानिए कैसे बनता है ये और इससे जुड़े उपाय

आपकी जन्म कुंडली में बन रहे हैं दुर्घटना के योग तो करें ये आसान उपाय

जिन लोगों की जन्म कुंडली के होते हैं ये 10 योग, वो बनते हैं धनवान

जन्म कुंडली में कब बनता है ग्रहण योग? जानिए इसके शुभ-अशुभ प्रभाव और उपाय

हस्तरेखा: हथेली में कैसे बनता है बुधादित्य योग, जानिए इसके शुभ और अशुभ प्रभाव

जिस व्यक्ति की कुंडली में होती है सूर्य और गुरु की युति, वो होता है किस्मत वाला

कुंडली में बुध और शुक्र की युति से बनता है लक्ष्मी नारायण योग, जानिए ये कब देता है शुभ फल

कुंडली में गुरु और चंद्रमा की युति से बनता है गजकेसरी नाम का शुभ योग, इससे मिलते हैं शुभ फल