भयानक सर्दी के बाद खतरनाक है गर्मी की दस्तख, समझें क्यों अचानक टूटा ग्लेशियर... क्यों आई तबाही?

वीडियो डेस्क। उत्तराखंड के चमोली में रविवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे बड़ा हादसा हुआ। यहां तपोवन में ग्लेशियर टूटकर ऋषिगंगा नदी में गिरा। इससे बाढ़ के हालात पैदा हो गए और धौलीगंगा पर बन रहा बांध बह गया।

| Feb 08 2021, 12:47 PM IST

Share this Video
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

वीडियो डेस्क। उत्तराखंड के चमोली में रविवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे बड़ा हादसा हुआ। यहां तपोवन में ग्लेशियर टूटकर ऋषिगंगा नदी में गिरा। इससे बाढ़ के हालात पैदा हो गए और धौलीगंगा पर बन रहा बांध बह गया। इस हादसे में सरकारी कंपनी NTPC के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे करीब 150 मजदूरों की जान जाने की आशंका है। हालांकि, 16 लोगों को आईटीबीपी ने निकाल दिया। आईए जानते हैं कैसे ग्लेशियर टूटता है। स्नो लेपर्ड एडवेंचर के संचालक और पद्म श्री अजीत बजाज ने बताया कि उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने से धौलीगंगा नदी में बाढ़ आ गई। उन्होंने बताया ग्लेशियर टूटने की घटना बहुत अधिक सर्दी के बाद गर्मी शुरू होने के चलते होता है। सर्दी के चलते नदी का ऊपरी सतह जम जाता है। इस डैम जैसी स्थिति बन जाती है। लेकिन जब ग्लेशियर टूटता है तो बाढ़ जैसी स्थिति बन जाती है। हालांकि, आज की घटना के बाद अब स्थिति उतनी भयानक नहीं है, जितना डर था।