Asianet News HindiAsianet News Hindi

किस दिन, कौन-सी दिशा में यात्रा करना होता है शुभ और किस दिन अशुभ? ध्यान रखें ये बातें

यात्रा करना हमारे जीवन का एक हिस्सा है। कई यात्राएं बिजनेस को लेकर होती हैं तो कुछ परिवार के साथ घुमने के लिए। कभी रिश्तेदारों के यहां मांगलिक कार्यों में जाने कि लिए भी यात्रा करनी पड़ती है। कोई यात्रा धार्मिक भी हो सकती है। यात्रा और जीवन का एक-दूसरे के पूरक हैं।

Astrology Hinduism Remedy Remedy Travel Rules disha Shool MMA
Author
Ujjain, First Published Dec 6, 2021, 10:35 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र में यात्रा से जुड़ी अनेक शुभ-अशुभ संकेतों के बारे में बताया गया है। ज्योतिष शास्त्र में ये भी बताया गया है कि किस वार को किस दिशा में यात्रा करने से बचना चाहिए। ऐसा करने से कष्ट का अनुभव हो सकता है। इसे दिशा शूल कहते हैं। लेकिन कई बार न चाहते हुए भी हम निषेध दिशा में यात्रा करना पड़ सकती है। उस स्थिति में कुछ आसान उपाय करने से दिशा शूल का परिहार यानी निवारण हो सकता है। आगे जानिए इससे जुड़ी खास बातें… 

किस दिन कौन-सी दिशा में यात्रा न करें?
सोमवार और शनिवार को पूर्व दिशा में यात्रा करने पर दिशाशूल लगता है। दिशाशूल का अर्थ है संबंधित दिशा में बाधा और कष्ट प्राप्त होना। इसलिए सोमवार एवं शनिवार को पूर्व दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए। रविवार और शुक्रवार को पश्चिम दिशा में दिशाशूल लगता है। मंगलवार और बुधवार को उत्तर दिशा की यात्रा अनुकूल नहीं होती है तथा गुरूवार को दक्षिण दिशा की यात्रा कष्टकारी होती है।

किस दिन कौन-सी दिशा में यात्रा शुभ फल देती है?
दक्षिण दिशा में यात्रा के लिए सोमवार को उत्तम माना जाता है। मंगलवार पूर्व व दक्षिण दोनों ही दिशाओं में यात्रा के लिए शुभ होता है। बुधवार के दिन पूर्व एवं पश्चिम दिशा की यात्रा अनुकूल रहती है। गुरूवार को दक्षिण दिशा को छोड़कर अन्य सभी दिशाओं में यात्रा सुखद रहती है। शुक्रवार के दिन शाम के समय शुरू की गयी यात्रा सुखद और शुभ फलदायी होती है। शनिवार के विषय में कहा गया है कि शनिवार को अपने घर की यात्रा को छोड़कर अन्य किसी भी स्थान की यात्रा लाभप्रद नहीं होती है। रविवार को पूर्व दिशा में की गयी यात्रा उत्तम रहती है।

यात्रा दोष दूर करने के लिए ये उपाय करें…
कई बार न चाहते हुए भी उस दिशा में यात्रा करनी पड़ती है जिस दिशा में दिशाशूल होता है। इस दोष को दूर करने के लिए ज्योतिषशास्त्र में सामान्य सा उपाय बताया गया है। 
- सोमवार को दर्पण देखकर और दूध पीकर यात्रा करें। 
- मंगलवार को गुड़ खाकर यात्रा करें।
- बुधवार को धनिया या तिल खाकर यात्रा करें। 
- गुरूवार को दही खाकर यात्रा करें। 
- शुक्रवार को जौ खाकर अथवा दूध पीकर सफर पर निकलें। 
- शनिवार को उड़द या अदरक खाकर यात्रा पर जाएं। 
- रविवार को घी अथवा दलिया खाकर यात्रा करनी चाहिए। 
 

ये वास्तु टिप्स भी पढ़ें

घर के मंदिर में ध्यान रखें ये बातें, कैसी मूर्ति की करें पूजा और किस तरह की मूर्तियां रखने से बचें

घर में हो वास्तु दोष तो भी करियर में आती है बाधाएं, ध्यान रखें ये वास्तु टिप्स

Feng shui tips: किस धातु से बनी विंड चाइम्स घर की किस दिशा में लगाना चाहिए, जानिए खास बातें

Vastu Tips: इन छोटी-छोटी बातों का रखेंगे ध्यान तो दूर होंगी परेशानियां और मिल सकती है तरक्की

वास्तु दोष निवारक यंत्र से दूर हो सकती हैं आपकी परेशानियां, जानिए इसके फायदे और खास बातें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios