Asianet News HindiAsianet News Hindi

13 दिसंबर को साल 2021 का अंतिम शुभ मुहूर्त, मांगलिक कार्यों के लिए करना होगा एक महीना इंतजार

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सूर्य जब गुरु ग्रह की राशि धनु और मीन में होता है तो इसे खर मास कहते हैं। इस दौरान मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाती है। इस बार 16 दिसंबर को सूर्य गुरु की राशि धनु में प्रवेश करने जा रहा है।

Hindu Religion Astrology Remedy Shubh Muhurta Shubh Muhurta of December 2021 MMA
Author
Ujjain, First Published Dec 7, 2021, 11:52 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. सूर्य धनु राशि में 14 जनवरी 2022 तक रहेगा। यानी 16 दिसंबर 2021 से 14 जनवरी 2022 तक कोई भी शुभ कार्य नहीं हो सकेगा। 16 दिसंबर से पहले 13 दिसंबर को साल 2021 का अंतिम शुभ मुहूर्त है। यानी इसके बाद अब अगले साल 2022 में ही विवाह आदि शुभ कार्य किए जा सकेंगे। ज्योतिषियों की माने तो इस साल के सिर्फ 4 शुभ मुहूर्त ही शेष बचे हैं।

खर, मीन और चातुर्मास में नहीं होती शादियां
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार, ज्योतिष में किसी भी मांगलिक कार्य यानी खासतौर पर विवाह के लिए शुभ मुहूर्त को बहुत खास माना जाता है। ज्योतिष में शुभ मुहूर्त निकालने के लिए ग्रह नक्षत्रों की गणना की जाती है। इसी गणना के आधार पर कुछ समय ऐसा भी होता है, जिसे विवाह आदि के लिए शुभ नहीं माना जाता है। इसमें जुलाई से नवंबर तक होने वाले चातुर्मास के साथ ही खर और मीन मास को भी विशेष ध्यान में रखा गया है। इसलिए इन दिनों में शुभ मुहूर्त नहीं होने से विवाह और अन्य मांगलिक कामों पर रोक लग जाती है।

विवाह के 11 शुभ नक्षत्रों में से 4 रहेंगे
डॉ. मिश्र के अनुसार, ज्योतिष ग्रंथों में विवाह मुहूर्त के लिए 11 शुभ नक्षत्र बताए गए हैं। इनमें उत्तराषाढ़, उत्तराभाद्रपद और रेवती नक्षत्र भी शामिल हैं। ये नक्षत्र 7, 11, 12 और 13 तारीख को रहेंगे। साथ ही विवाह के लिए शुभ मार्गशीर्ष महीने का शुक्लपक्ष भी रहेगा। इस तरह शादियों के लिए सिर्फ 4 दिन रहेंगे।

विवाह के शुभ मुहूर्त
- 7 दिसंबर, मंगलवार को उत्तराषाढ़ नक्षत्र रहेगा। विवाह के लिए इसे अति शुभ माना गया है। (विवाह के लिए 10 रेखा के लग्न) हैं। 
- 11 दिसंबर, शनिवार को पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र रहेगा। इस दिन ग्रह-नक्षत्र अनुकूल रहने से मांगलिक कार्यों के लिए शुभ रहेगा। (विवाह के लिए 9 रेखा के लग्न) 
- 12 दिसंबर, रविवार को उत्तराभाद्रपद नक्षत्र होने से इस दिन विवाह आदि शुभ कार्य किए जा सकेंगे। (विवाह के लिए 9 रेखा के लग्न) 
- 13 दिसंबर, सोमवार को रेवती नक्षत्र रहेगा। विवाह आदि मांगलिक कार्यों के लिए ये नक्षत्र बहुत शुभ माना गया है। (विवाह के लिए 6 रेखा के लग्न)

ज्योतिष की ये खबरें भी पढ़ें...

घर के मंदिर में ध्यान रखें ये बातें, कैसी मूर्ति की करें पूजा और किस तरह की मूर्तियां रखने से बचें

घर में हो वास्तु दोष तो भी करियर में आती है बाधाएं, ध्यान रखें ये वास्तु टिप्स

Feng shui tips: किस धातु से बनी विंड चाइम्स घर की किस दिशा में लगाना चाहिए, जानिए खास बातें

Vastu Tips: इन छोटी-छोटी बातों का रखेंगे ध्यान तो दूर होंगी परेशानियां और मिल सकती है तरक्की

वास्तु दोष निवारक यंत्र से दूर हो सकती हैं आपकी परेशानियां, जानिए इसके फायदे और खास बातें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios