Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेंगलुरु में स्कूल-दफ्तर जाने लेना पड़ा ट्रैक्टर का सहारा,बाढ़ ने घुटनों तक डुबा दिया

रात भर हुई मूसलाधार बारिश ने सोमवार को राजधानी बेंगलुरु को घुटनों तक डुबा दिया। कई इलाके जलमग्न हो गए। सड़कों सहित मुख्य मार्गों पर पानी भर गया।इसे ट्रैफिक रुक गया। कुछ हिस्सों में नावों और ट्रैक्टरों के जरिये लोगों को बाहर निकाला गया।

बेंगलुरु. रात भर हुई मूसलाधार बारिश ने सोमवार को राजधानी बेंगलुरु को घुटनों तक डुबा दिया। कई इलाके जलमग्न हो गए। सड़कों सहित मुख्य मार्गों पर पानी भर गया।इसे ट्रैफिक रुक गया। कुछ हिस्सों में नावों और ट्रैक्टरों के जरिये लोगों को बाहर निकाला गया। स्टूडेंट्स को स्कूल-कॉलेज और लोगों को दफ्तर आदि जाने इन साधनों की मदद लेनी पड़ी। शहर के महदेवपुरा और बोम्मनहल्ली क्षेत्रों में स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फंड (SDRF) की 2 टीमों को तैनात करना पड़ा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि रविवार को भारी बारिश के कारण टी के हल्ली शहर में कावेरी जल आपूर्ति का प्रबंधन करने वाली बैंगलोर जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड (बीडब्ल्यूएसएसबी) की इकाई में बाढ़ आ गई है और वहां की मशीनरी को नुकसान पहुंचा है। बीडब्ल्यूएसएसबी ने मंगलवार को भी बेंगलुरु के कई इलाकों में जलापूर्ति बाधित होने की चेतावनी दी थी। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बेंगलुरू में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के बीच सोमवार रात कहा कि सरकार ने शहर में बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए 300 करोड़ रुपए जारी करने का फैसला किया है। 

यह भी पढ़ें
लौटने से पहले Monsoon ने फिर बरपाया गदर, कर्नाटक सहित कई राज्यों में फिर भारी से भी अधिक बारिश का अलर्ट
हे राम! विनाशकारी बाढ़ ने डुबोई पाकिस्तान की इकोनॉमी, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ एक इमोशनल वीडियो

 

Video Top Stories