पिता के लिए दुनिया से लड़ गई थी मासूम, तब हुई फादर्स डे मनाने की शुरुआत

वीडियो डेस्क। दुनियाभर के कई सारे देशों में जून(june) के तीसरे रविवार(sunday) को फादर्स डे (Father's Day) मनाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस दिन को मनाने की शुरुआत कैसे हुई। इस दिवस को मनाने के लिए एक बेटी ने अपनी पूरी ताकत लगा दी थी। दरअसल, 1909 में सोनोरा लुईश स्मार्ट डॉड (Sonora Louise Smart Dodd) नाम की एक 16 साल की लड़की ने पिता के नाम इस दिवस को मनाने की शुरुआत की थी। सोनोरा, जब 16 साल की थी तब उसकी मां उसे और उसके 5 छोटे भाइयों को छोड़कर चली गईं थी। सोनोरा के पिता ने पूरे घर और बच्चों की जिम्मेदारी बखूबी निभाई। 

| Jun 20 2020, 01:30 PM IST

Share this Video
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

वीडियो डेस्क। दुनियाभर के कई सारे देशों में जून(june) के तीसरे रविवार(sunday) को फादर्स डे (Father's Day) मनाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस दिन को मनाने की शुरुआत कैसे हुई। इस दिवस को मनाने के लिए एक बेटी ने अपनी पूरी ताकत लगा दी थी। दरअसल, 1909 में सोनोरा लुईश स्मार्ट डॉड (Sonora Louise Smart Dodd) नाम की एक 16 साल की लड़की ने पिता के नाम इस दिवस को मनाने की शुरुआत की थी। सोनोरा, जब 16 साल की थी तब उसकी मां उसे और उसके 5 छोटे भाइयों को छोड़कर चली गईं थी। सोनोरा के पिता ने पूरे घर और बच्चों की जिम्मेदारी बखूबी निभाई। 
एक दिन सोनोरा ने 1909 में मदर्स डे के बारे में सुना और उसे महसूस हुआ कि पिता(father) के लिए ऐसा एक दिवस(Day) होना चाहिए। उन्होने फादर्स डे मनाने के लिए याचिका दायर की। सोनोरा के पिता का जन्मदिन जून में आता है इसलिए वे चाहती थीं कि जून में ही फादर्स डे मनाया जाए। इस याचिका के लिए उसे दो हस्ताक्षरों की जरूरत थी। इसलिए वह आस-पास मौजूद सभी चर्च के सदस्यों के पास गई और उन्हें हस्ताक्षर करने के लिए मनाया। जिसके बाद उन्होंने एक कैंपने चलाया। 1910 में पहली बार फादर्स डे मनाया गया।