Asianet News HindiAsianet News Hindi

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के पैतृक गांव में मांगी जा रही दुआएं, लाइफ सपोर्ट पर हैं कैप्टन

Dec 9, 2021, 4:49 PM IST
  • facebook-logo
  • twitter-logo
  • whatsapp-logo

देवरिया: भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टर क्रैश (Helicopter Crash) में एकमात्र जीवित बचे विंग कमांडर वरुण प्रताप सिंह (Varun Pratap singh) के पैतृक गांव कन्हौली के लोगों मैं बेचैनी है। गांव के लोग उनका हाल जानने के लिए परेशान है।  गांव में उनके पैतृक आवास राजीव सदन पर कल शाम से ही लोगों के आने-जाने का तांता लगा है। वरुण के परिवार के लोगों के मोबाइल पर आने वाले हर फोन के बारे में लोग जानने को आतुर हैं कि कहीं वरुण की कोई खबर तो नहीं आई। गांव में स्थित मंदिर पर ग्रामीण भोर से ही वरुण के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए पूजा पाठ में जुटे हैं। परिजनों ने बताया कि चिकित्सकों के मुताबिक आने वाले 48 घंटे वरुण के लिए काफी नाजुक हैं।

वरुण के बड़े पिता तेज प्रताप सिंह ने बताया कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है ईश्वर और उनकी रक्षा करें क्योंकि इससे बड़ी और कोई घटना नहीं हो सकती है जिसमें देश के सर्वोच्च सेनापति समेत 13 लोगों की मौत हुई है। 

लाइफ सर्पोट सिस्टम पर हैं वरुण

तमिलनाडु में हुई सैन्य हेलीकॉप्टर दुर्घटना पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह सेना के वेलिंग्टन अस्पताल लाइफ सर्पोट पर हैं और इन्हें बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा हैं। 

वरुण के चाचा एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि वरुण का ऑपरेशन हुआ है । उन्हें आईसीयू में शिफ्ट किया गया है । चिकित्सकों के मुताबिक आने वाले 48 घंटे उनके लिए काफी नाजुक है। ईश्वर उनकी रक्षा करें।

कन्हौली गांव के प्रमोद त्रिपाठी वरुण का समाचार सुनकर काफी दुखी है प्रमोद ने बताया हम सभी लोग वरुण की सलामती के लिए भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं। कन्हौली गांव के ही हरी लाल जायसवाल मंदिर से पूजा कर वापस लौट रहे थे । उन्होंने बताया कि वरुण के घायल होने की खबर से सभी दुखी हैं ईश्वर चाहेंगे तो वह शीघ्र स्वस्थ हो जाएंगे। 

कुन्नूर हेलिकॉप्टर हादसे में आगरा के पृथ्वी सिंह की भी गई जान, मां बोलीं- कोई मेरे टिंकू को बुला दे

Video Top Stories