प्राइवेट हाथों में नहीं देने चाहिए सरकारी उपक्रम: स्वामी प्रसाद मौर्य

समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के एयरपोर्ट को बेचने वाले बयान पर भी मौर्य ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि सरकारी उपक्रम को जनहित में बेचना नहीं चाहिए और उनको सुधार कर चलाना चाहिए। ऐसे उपक्रमों को प्राइवेट हाथों में नहीं दिया जाना चाहिए। 

| Dec 04 2021, 05:35 PM IST

Share this Video
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

झांसी: उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने केंद्र की सरकार को उसकी 'बेचो नीति' पर घेरा है। शिक्षक पात्रता परीक्षा (TTE) में लीक हुए पर्चे को लेकर भी योगी सरकार के मंत्री ने वरुण गांधी के ट्वीट का जवाब देते हुए मौर्य ने कहा कि हमारी सरकार ने निष्पक्षता से नौकरी देने का काम किया है। 

सरकारी उपक्रम को बेचना नहीं चाहिए 
समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के एयरपोर्ट को बेचने वाले बयान पर भी मौर्य ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि सरकारी उपक्रम को जनहित में बेचना नहीं चाहिए और उनको सुधार कर चलाना चाहिए। ऐसे उपक्रमों को प्राइवेट हाथों में नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकारी उपक्रम को जनहित में बेचना नहीं चाहिए और उनको सुधार कर चलाना चाहिए ऐसे उपक्रमों को प्राइवेट हाथों में नहीं दिया जाना चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने एक भाषण में कहा था कि सरकारी धन से बनने वाले एयरपोर्ट को बीजेपी बेचने के लिए बनवा रही है। मालूम हो कि गौतमबुद्ध नगर के जेवर में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनने जा रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट की आधारशिला रख चुके हैं।