Asianet News Hindi

इस पाकिस्तानी मंत्री ने एक बार फिर भारत के खिलाफ उगला ज़हर

Sep 12, 2019, 7:17 PM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन एक बार फिर अपने विवादित बयान के लिए सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं। एक ट्वीट पर प्रतिक्रिया में फवाद ने कहा कि मदरसों में पढ़ने वाले सभी छात्र आत्मघाती हमलावर नहीं होते। लेकिन, कड़वी सच्चाई यह है कि सभी आत्मघाती हमलावर मदरसों के छात्र होते हैं।  

इससे पहले फवाद ने भारत के चंद्रयान-2 मिशन का मजाक उड़ाया था। उन्होंने लिखा था, "खिलौना मून की बजाय मुंबई में उतर गया होगा। डियर इंडिया! जो काम नहीं आता, उसमें पंगा नहीं लेते। उफ, मैं वाकई यह महान लम्हा देखने से चूक गया।' चौधरी के इस बयान की पाकिस्तान में ही निंदा की गई थी। सोशल मीडिया पर पाक यूजर्स ने लिखा था कि यह बचकाना बयान है। कुछ ने कहा था कि भारत की अंतरिक्ष क्षमता के आगे अगर हम खुद को आंकेंगे तो बौने साबित हो जाएंगे।

हाल ही में फवाद ने दावा किया था कि 10 श्रीलंकाई क्रिकेटरों ने पाक दौरे पर आने से इसलिए मना कर दिया, क्योंकि भारत ने उन्हें आईपीएल में न खिलाने की धमकी दी थी। इस पर खुद श्रीलंका के खेल मंत्री हरिन फर्नांडो ने हुसैन का दावा झूठा बताया। उन्होंने कहा था कि 2009 में हमारे खिलाड़ियों पर पाकिस्तान में जो हमला हुआ था, उसकी वजह से कुछ कुछ प्लेयर्स ने दौरे पर न जाने का फैसला किया।

फवाद हुसैन ने 2013 के एक ट्वीट में कहा था कि पाकिस्तान दुनिया के सबसे बेहतरीन सुसाइड बॉम्बर्स बनाता है। इसमें कोई शक नहीं। उस समय भी सोशल मीडिया पर यूजर्स ने फवाद हुसैन का मजाक उड़ाया था। हालांकि, तब वो इमरान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के साथ जुड़े विपक्ष के नेता थे।

Video Top Stories