Asianet News HindiAsianet News Hindi

6 गेंद 17 रन के रोमाचंक मुकाबले मे ऐसे हारी चेन्नई सुपर किंग्स, ये बने हार के 3 बड़े कारण

Oct 18, 2020, 11:01 AM IST

वीडियो डेस्क। आईपीएल के 13वें सीजन का 34वां मैच दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने जीता। शारजाह में शनिवार रात उसने चेन्नई सुपर किंग्स ( Chennai Super Kings) को 5 विकेट से मात दी। दिल्ली ने 19.5 ओवरों में 5 विकेट खोकर 185 रन बनाकर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया। बेहतरीन फॉर्म में चल रहे शिखर धवन ने दिल्ली की और से 58 गेंदों में 101 रनों की नाबाद पारी खेली। आखिरी ओवर में अक्षर पटेल ने 5 गेंदों में 3 छक्के की मदद से 21 रनों की आतिशी पारी खेल दिल्ली को जीत दिला दी । इसके पहले चेन्नई की शुरुआत बेहद खराब रही थी। CSK ने निर्धारित ओवरों में 4 विकेट खोकर 179 रन बनाए। मैच की दूसरी बॉल पर ओपनर सैम करन बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। तुषार देशपांडे ने उन्हें एनरिच नोर्तजे के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद डु प्लेसिस और शेन वॉटसन (36) ने दूसरे विकेट के लिए 67 बॉल 87 रन की पार्टनरशिप की। सीएसके के लिए डु प्लेसिस ने 47 बॉल पर सबसे ज्यादा 58 रन की पारी खेली। यह लीग में उनकी 16वीं फिफ्टी रही। उनके अलावा अंबाती रायडू ने 45, वॉटसन ने 36 और रविंद्र जडेजा ने 33 रन की पारी खेली। 

धोनी ने कहा- कैच छोड़ना भारी पड़ा 
धोनी ने मैच के बाद कहा, धवन का विकेट हमारे लिए जरूरी था। हमने उनके कुछ कैच छोड़े, जिसका हमें खामियाजा भुगतना पड़ा। धवन ने शानदार पारी खेली। अगर वे लय में होते हैं तो स्कोरबोर्ड मूव कराते रहते हैं। साथ ही अपने स्ट्राइक रेट को भी बनाए रखते हैं। धवन ने काफी बेहतरीन बल्लेबाजी की और दूसरे बल्लेबाजों ने भी उनका बखूबी साथ निभाया। दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 17 रन की दरकार थी। धोनी ने अंतिम ओवर में ड्वेन ब्रावो की जगह रविंद्र जडेजा को बॉलिंग देकर सबको चौंका दिया। धोनी ने मैच के बाद बताया कि ब्रावो फिट नहीं थे, इसलिए जडेजा को गेंद थमाया गया। धोनी ने कहा, 'ब्रावो के अलावा मेरे पास दो ऑप्शन थे, सैम करन या जडेजा। मैंने 19वां सैम को और 20वां जडेजा को देने का सोचा, जो कि काफी नहीं रहा।'

 

Video Top Stories