Asianet News Hindi

पत्नी के निधन के 5 दिन बाद ही मिल्खा सिंह की टूट गईं सांसें, जानें बेइंतेहा मोहब्बत की कहानी

Jun 19, 2021, 1:14 PM IST

वीडियो डेस्क। पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन करने वाले फ्लाइंग सिंख मिल्खा ने 91 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। उनके निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। मिल्खा सिंह के गेम खेलने के किस्से जितने दिलचस्प हैं उतनी ही दिलचस्प है उनकी प्रेम कहानी। मिल्खा सिंह के निधन से पांच दिन पहले ही उनकी पत्नी निर्मल सिंह का भी देहांत हो गया था। दोनों को एक दूसरे से बेइंतेहा मोहब्बत थी। मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल कौर का जन्म पाकिस्तान के शेखपुरा में  हुआ था। वो तीन अलग-अलग मौकों पर पंजाब की वॉलीबॉल टीम की कप्तान रही थीं। मिल्खा सिंह और निर्मल की पहली मुलाकात 1955 में श्रीलंका के कोलंबो में हुई थी। इस दौरे पर एक भारतीय बिजनेसमैन ने वॉलीबॉल टीम और एथलेटिक्स टीम को खाने पर इनवाइट किया। यहां निर्मल कौर पहली नजर में ही मिल्खा सिंह को पसंद आ गई थीं। इस दौरान दोनों के बीच काफी बातचीत हुई। पार्टी से लौटते वक्त मिल्खा ने निर्मल के हाथ पर अपने होटल का नंबर लिख दिया। दोनों की बातचीत का सिलसिला आग बढ़ा और साल 1958 में एक बार फिर दोनों की मुलाकात हुई। हालांकि इनकी प्रेम कहानी की शुरुआत हुई साल 1960 में हुई जब दोनों दिल्ली के नेशनल स्टेडियम में मिले। 1960 में दोनों का रिश्ता तब और मजबूत हो गया जब चंडीगढ़ में खेल प्रशासन ने मिल्खा को स्पोर्ट्स का डिप्टी डायरेक्टर बना दिया और निर्मल वूमेन स्पोर्ट्स की डायरेक्टर नियुक्त हुईं।  हालांकि तब तक मिल्खा और निर्मल एक साथ जिंदगी बिताने का फैसला कर चुके थे। परिवारों के बीच मतभेद और अड़चनों के बाद दोनों ने 1962 में शादी की।  मिल्खा सिंह कहते थे कि उनकी गैर मौजूदगी में भी पत्नी ने बच्चों की परवरिश में कोई कमी नहीं आने दी। मिल्खा और निर्मल की बेटी डॉक्टर है. वहीं बेटा जीव मिल्खा सिंह एक मशहूर गोल्फर है। 

Video Top Stories