2017 के पहले जालीदार टोपी और लुंगी छाप गुंडे करते थे परेशान: केशव मौर्य

प्रयागराज में व्यापारियों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी से जुड़े मुस्लिम नेताओं को टोपी और लुंगी वाला गुंडा करार दिया है। केशव मौर्य ने कहा है कि साल 2017 के चुनाव से पहले जालीदार और गोल टोपी पहने लुंगी छाप गुंडे व्यापारियों को आतंकित करते थे। 

| Dec 04 2021, 11:33 AM IST

Share this Video
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

प्रयागराज: यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Maurya) एक बार अपने बयानों से चर्चा में आ गए हैं। प्रयागराज में व्यापारियों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से जुड़े मुस्लिम नेताओं को टोपी और लुंगी वाला गुंडा करार दिया है। केशव मौर्य ने कहा है कि साल 2017 के चुनाव से पहले जालीदार और गोल टोपी पहने लुंगी छाप गुंडे व्यापारियों को आतंकित करते थे। दर्जनों असलहों और कई गाड़ियों के साथ चलते हुए दहशत फैलाते थे। लुंगी और टोपी पहने गुंडे समाजवादी पार्टी से जुड़े रहते थे, लेकिन चुनाव के बाद अब वह सब जेल चले गए हैं. उन्होंने इशारों-इशारों में मुसलमानों को लुंगी व टोपी छाप गुंडा बताया। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा केशव का बयान

केशव मौर्य ने कहा कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के बाद इन गुंडों को लेकर व्यापारियों का डर ख़त्म हो गया है। केशव मौर्य का यह बयान सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी होने लगा है। केशव ने दो दिन पहले ही मथुरा में कृष्ण मंदिर निर्माण की तैयारी पर ट्वीट करते हुए सियासी माहौल को गरमाया था। इसके साथ ही यूपी में विधानसभा चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी समाज के अलग-अलग तबकों को रिझाने व अपने साथ जोड़ने की कवायद में जुट गई है। इसी कड़ी में आज संगम नगरी प्रयागराज में व्यापारियों का सम्मेलन आयोजित कर इस वर्ग को पूरी तरह अपने पाले में लाने की कोशिश की गई। इस सम्मेलन में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ ही कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और नंद गोपाल गुप्ता नंदी खास तौर पर मौजूद थे।

डिप्टी सीएम मौर्य ने अखिलेश से मांगा जवाब, कहा- मथुरा में मंदिर का निर्माण चाहते हैं कि नहीं, बताएं